व्हे प्रोटीन के फायदे और नुकसान

 नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? आज का हमारा विषय है व्हे प्रोटीन के फायदे और नुकसान, हमारी सेहत का ख्याल रखने के लिए हम क्या कुछ नहीं करते! योग, प्राणायाम, एक्सरसाइज, जिम आदि बातों का सहारा लेकर हम फिट रहने की कोशिश करते हैं। इसी के साथ, संतुलित डाइट भी स्वस्थ रहने के लिए उतना ही जरूरी होता है। आजकल लोग सेहत का काफी ज्यादा ध्यान रखने लगे हैं। सेहत का ध्यान रखने के लिए जो कुछ भी उपाय हो, उनको अपनाते हुए दिखते हैं। व्हे प्रोटीन शरीर की तंदुरुस्ती के लिए काफी महत्वपूर्ण माना गया है।

व्हे प्रोटीन मसल्स बिल्ड अप करने के लिए काफी गुणकारी और असरदार होता है। अगर आप हार्ड वर्क आउट करते हैं, तो आपको प्रोटीन की ज्यादा मात्रा में जरूरत होती है। प्रोटीन मांसपेशियों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। प्रोटीन की खुराक लेने से हमारी मांसपेशियां और हड्डियां मजबूत होती हैं। स्वस्थ और मजबूत शरीर पाने के लिए व्हे प्रोटीन का सेवन किया जाता है। तो दोस्तों, आज जानेंगे व्हे प्रोटीन के फायदे और नुकसान के बारे में।

व्हे प्रोटीन के फायदे

व्हे प्रोटीन की खुराक लेने से शरीर को काफी फायदे मिलते हैं।

१) लिवर-

व्हे प्रोटीन में बीटा लैक्टोग्लोबुलिन और अल्फा लैक्टोग्लोबुलीन नाम के प्रोटीन होते हैं; जो लीवर को सुरक्षा प्रदान करते हैं और लीवर को खराब होने से बचाते हैं। यह दोनों प्रोटीन ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करके लीवर की सूजन को कम करते हैं। लिवर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए वे प्रोटीन का सेवन करना चाहिए। लीवर हमारे शरीर के अन्य अंगों में से एक महत्वपूर्ण अंग है। इसके खराबी के चलते शरीर को काफी क्षति पहुंचती हैं। 

२) मजबूत मांसपेशिया-

बढ़ती उम्र के साथ मांसपेशियों में कमजोरी आने लगती हैं। मांसपेशियों को मजबूत बनाने के लिए शरीर को अधिक प्रोटीन की जरूरत होती है। मांसपेशियों को मजबूती देने में प्रोटीन अहम भूमिका निभाते हैं। मांसपेशियों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए और मजबूती प्रदान करने के लिए व्हे प्रोटीन महत्वपूर्ण रोल निभाता है। एथलीट या बॉडीबिल्डर लोग व्हे प्रोटीन का अधिक मात्रा में सेवन करते हैं। क्योंकि, उन्हें ज्यादा प्रोटीन की जरूरत होती हैं; जो व्हे प्रोटीन के सेवन से पूरी होती है।

३) इम्युनिटी-

शारीरिक रोग प्रतिकारक शक्ति याने इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए भी व्हे प्रोटीन महत्वपूर्ण कार्य करता है। ग्लूटाथिओन एक प्रकार का एंटीऑक्सीडेंट है, जो इम्यूनिटी को बढ़ाने में काफी मददगार होता है। व्हे प्रोटीन में सिस्टिन नाम का अमीनो एसिड होता है, जो इस ग्लूटाथियोन के उत्पादन को बढ़ावा देता है। इसीलिए, इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए व्हे प्रोटीन का सेवन जरूर करना चाहिए।

४) अस्थमा-

व्हे प्रोटीन का सेवन अस्थमा के कई लक्षणों के लिए कारगर साबित हुआ है। व्हे प्रोटीन का सेवन करने से हमारे इम्युनिटी बढ़ती हैं, जो अस्थमा से लड़ने में हमें मददगार होती हैं। अध्ययन के अनुसार यह पाया गया है, कि व्हे प्रोटीन का सेवन अस्थमा के लिए काफी गुणकारी होता है।

५) ब्लड प्रेशर-

हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने के लिए व्हे प्रोटीन का सेवन जरूरी होता है। हाई बीपी की वजह से ह्रदय रोग की समस्या उत्पन्न हो सकती हैं। इसीलिए, रक्तचाप को नियंत्रित रखने के लिए व्हे प्रोटीन का सेवन जरूर करना चाहिए।

६) मजबूत हड्डियां-

हड्डियों की मजबूती के लिए कैल्शियम बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। व्हे प्रोटीन का सेवन करने से शरीर को उचित मात्रा में कैल्शियम तथा प्रोटीन मिलता हैं। इसी कारण, व्हे प्रोटीन का सेवन शरीर की हड्डियां मजबूत करने के लिए महत्वपूर्ण होता है।

७) डायबिटीज-

टाइप २ डायबिटीज के मरीजों में ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए व्हे प्रोटीन का सेवन जरूरी होता है। व्हे प्रोटीन शरीर में इंसुलिन का प्रमाण बढ़ाता है और ब्लड शुगर लेवल को घटाता है। इसी कारण, ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखने के लिए वे प्रोटीन का सेवन करना चाहिए।

व्हे प्रोटीन के नुकसान

व्हे प्रोटीन का सेवन करने से कुछ नुकसान भी देखने को मिलते हैं।

१) पाचन तंत्र में गड़बड़ी-

अगर आपके पाचन तंत्र में गड़बड़ी है और आप ऐसे में व्हे प्रोटीन का सेवन करते हैं, तो आप का पाचन तंत्र ज्यादा बिगड़ जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि, व्हे प्रोटीन में लैक्टोज होता है; जो पाचन तंत्र में गड़बड़ी होने के कारण ठीक से पचता नहीं है।

२) किडनी स्टोन-

अगर आपको किडनी स्टोन की समस्या है और आप ऐसे में व्हे प्रोटीन का अधिक मात्रा में सेवन करते हैं; तो यह समस्या अधिक गंभीर होने की संभावना होती है।

३) कमजोरी-

अधिक मात्रा में व्हे प्रोटीन का सेवन करने से कमजोरी तथा थकान महसूस होती हैं। व्हे प्रोटीन का सेवन करने का पेट में ऐठन, गैस, ब्लोटिंग की परेशानी भी होने लगती हैं। 

४) डायरिया-

छोटे बच्चों को व्हे प्रोटीन पचाने में काफी कठिनाई महसूस होती है। इसीलिए, व्हे प्रोटीन का सेवन करने से छोटे बच्चों में डायरिया, उल्टी और जी मचलाना जैसे समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं।

दोस्तों, आज के लिए बस इतना ही। उम्मीद है, आपको आज का व्हे प्रोटीन के फायदे और नुकसान यह ब्लॉग अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

अधिक पढ़ें : स्टीम बाथ के फायदे और नुकसान

Leave a Comment

error: Content is protected !!