गले में कुछ अटका सा लगे तो क्या करें ?

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? आज का हमारा विषय है, गले में कुछ अटका सा लगे तो क्या करें,आजकल मौसम में बदलाव होते ही लोगों को गले में खराश, साइनस की प्रॉब्लम तथा गले से संबंधित अन्य समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं। गले में कुछ अटका सा लगना, इसी समस्या का एक रूप है। अक्सर मौसम बदलते ही लोगों को गले में कुछ अटका सा महसूस होता है। ऐसे में वह बहुत असहज हो जाते हैं और खाने-पीने में भी काफी तकलीफ महसूस होती है। इसी के साथ, गले में दर्द भी महसूस होता है। गले में मौजूद युवूला में सूजन आने की वजह से गले में कुछ अटका सा महसूस हो सकता है।

युवुला एक छोटा मांस का टुकड़ा है, जो झिल्ली और मांसपेशियों के टिश्यूज़ से बना होता है। यह काफी लचीला होता है और खाने को मुंह से अंदर की ओर धकेलने में उपयोगी होता है। अगर यूवुला में सूजन आ जाए, तो इससे खाने पीने में बहुत दिक्कत महसूस होती है। गले में कुछ अटका सा महसूस होने की स्थिति को “ग्लोबस फैरिंजियस” कहते हैं। मौसम में बदलाव के साथ यह स्थिति काफी आम हो जाती हैं। तो दोस्तों, आज जानेंगे गले में अटका महसूस होने पर क्या करना चाहिए, उसके लक्षण और कारणों के बारे में।

गले में कुछ अटका सा लगने के कारण

इस स्थिति के अलग-अलग कारण हो सकते हैं।

  1. गर्दन के पास वाली हड्डी बढ़ने के कारण भी आपको गले में अटका सा महसूस हो सकता है।
  2. गले की मांसपेशियों में ऐंठन की वजह से भी आपको यह स्थिति महसूस हो सकती हैं।
  3. बैक्टेरियल या वायरल संक्रमण की वजह से भी आपको इस स्थिति का अनुभव आ सकता है।
  4. साइनोसाइटिस एक ऐसी स्थिति है, जिसमें नासिक का मार्ग में सूजन आ जाती है और ऐसे में आपको गले में अटका सा महसूस होता है।
  5. नाक का बलगम गले में जमा हो जाने की वजह से खांसी आती है और गले में अटका सा महसूस होता है।
  6. प्रदूषण, एलर्जी, सर्दी, गैस्ट्रोएसोफैगल रिफ्लेक्स डिजीज, शुष्क हवा का संपर्क होना; इन सभी कारणों की वजह से भी गले में अटका सा महसूस होता है।

गले में अटका सा लगने के लक्षण-

इस स्थिति के निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं।

१) गले में खराश महसूस होना और उसकी वजह से खाना निगलने में परेशानी हो ना।

२) गले में दर्द तथा जलन महसूस होना।

३) समस्या गंभीर होने पर गर्दन पर सूजन आना।

४) गले को साफ करने के लिए खांसी आना और गले की निचले हिस्से में बलगम जमा होना।

गले में अटका सा लगने के घरेलू नुस्खे

गले में कुछ अटका सा महसूस होने पर आप कुछ घरेलू इलाज अपना सकते हैं। यह काफी आसान और सरल होते हैं।

१) गर्म पानी से गरारे-

एक गिलास गर्म पानी में थोड़ा नमक मिलाकर इस पानी से गरारे करें। दिन में दो बार इसका प्रयोग करने से आपको इस समस्या से काफी राहत मिल सकती हैं। यह एक बहुत ही सस्ता और सरल उपाय हैं।

२) तुलसी-

हमारे आयुर्वेद में तुलसी का स्थान सर्वोपरि माना गया है। गले की समस्याओं के लिए तुलसी हमेशा ही कारगर साबित हुई है। तुलसी में एंटीऑक्सीडेंट्स भरपूर मात्रा में होते हैं; जो हमारी इम्यूनिटी को मजबूत करते हैं। गले में कुछ अटका सा महसूस होने पर आप तुलसी का प्रयोग करके देखें; इससे आपको जरूर लाभ मिलेगा। चाय बनाते समय तुलसी के ४-५ पत्ते उसमें डालकर उसकी चाय पिए या एक कप पानी गर्म कर ले और उसमें ४-५ तुलसी के पत्ते डालकर उबाल ले; थोड़ी देर बाद इस पानी को पी ले। सुबह उठकर सबसे पहले इस पानी का सेवन करने से आपके गले में खराश तथा जलन कम होने में मदद मिलती है। इसका प्रयोग आप दिन में २-३ बार कर सकते हैं।

३) हल्दी वाला दूध-

हल्दी वाला दूध हमारे शरीर के लिए बहुत ही उपयुक्त होता है। अध्ययन के अनुसार, हल्दी का सबसे मुख्य तत्व करक्यूमिन में एंटी बैक्टीरियल और एंटी इन्फ्लेमेटरी तत्व पाए जाते हैं। दूध के साथ हल्दी का सेवन करने से हमारे गले में आई सूजन, जलन और संक्रमण को कम करने में काफी मदद मिलती हैं। इसी के साथ, हल्दी वाला दूध एक पूरा पोषण भरा ड्रिंक होता है; जो आपकी इम्यूनिटी को बढ़ावा देता है। इस कारण, गले में अटका हुआ महसूस होने की समस्या के लिए आपको हल्दी वाला दूध हर रोज पीना चाहिए।

४) ग्रीन टी-

गले में कुछ अटका महसूस होता है, तब ग्रीन टी को हॉट ड्रिंक के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं; जिससे आपके गले को आराम मिलता है। ग्रीन टी आजकल बहुत ही प्रसिद्ध हो गई हैं; लोग खुद को मेंटेन रखने के लिए ग्रीन टी का सेवन करते हैं। ग्रीन टी के फायदे बहुत होते हैं, उसमें एंटीऑक्सीडेंट्स की भरमार होती है। इसी के साथ, उसमें एंटीबैक्टीरियल तत्व पाए जाते हैं; जिससे आपके गले में खराश या कोई संक्रमण हो जाए तो उससे राहत मिलती हैं।

५) गर्म पानी की भांप-

गले में हो रही खराश और दर्द को कम करने के लिए गर्म पानी की भाप अच्छा विकल्प साबित होता है। यह काफी आसान और सरल होता है। एक बर्तन में पानी गर्म कर लें; उसमें चाहे तो आप विक्स वेपरब डाल सकते हैं। रुमाल से अपना मुंह ढककर गर्म पानी की भाप लें। इससे आपको काफी राहत मिलेगी।

६) आयुर्वेदिक काढ़ा-

इस काढ़े को आप घर के घर ही आसानी से बना सकते हैं। इसके लिए आप दालचीनी, लौंग, इलायची, अदरक, तुलसी के पत्ते ले। इन सबको एक कप पानी में डालकर उबाल ले। लगभग आधा पानी होने तक उबालें; उसके बाद उसे छान लें। उसमें स्वादानुसार शहद मिलाकर इस आयुर्वेदिक काढ़ा को पी जाए। इससे आपके गले में हो रही खराश, सूजन और दर्द को कम होने में मदद मिलती है। इसी के साथ, यह काढ़ा गले में अटका हुआ महसूस होने पर भी प्रभावित होता है।

डॉक्टर की सलाह-

वैसे तो, गले में अटका महसूस होना यह एक सामान्य स्थिति है। वक्त के साथ और घरेलू नुस्खों को आजमा कर यह काफी हद तक कम हो जाती हैं। लेकिन, घरेलू नुस्खों को आजमाने के बाद भी अगर यह कम ना हो रही हो और आपको निगलने में ज्यादा तकलीफ हो रही हो, खांसी दिन पर दिन बढ़ती जा रही हो; ऐसी परिस्थिति में आपको डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए। डॉक्टर आपके गले की अच्छे से जांच करेंगे। स्थिति की गंभीरता के अनुसार, आपको दवाइयां लिख कर देंगे। डॉक्टर द्वारा बताए गए निर्देशों का उचित पालन करें और इस समस्या से छुटकारा पाएं।

दोस्तों, आज के लिए बस इतना ही। उम्मीद है, आपको आज का यह ब्लॉग अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

अधिक पढ़ें : पेठा खाने के फायदे और नुकसान

Leave a Comment

error: Content is protected !!