कच्चा अंडा पीने के फायदे और नुकसान

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? आज का हमारा विषय है कच्चा अंडा पीने के फायदे और नुकसान,कोरोना महामारी के दौरान हर कोई अपनी इम्युनिटी बढ़ाने में लगा हुआ था। कोरोना वायरस से बचने के लिए लोग अलग-अलग तरह के पदार्थों का सेवन करने की सलाह देते थे। इन्हीं में से एक पदार्थ था, अंडा। कई लोग अंडा खाने की नसीहत देते थे। अंडे में कई सारे पोषक तत्व मिलते हैं, जो हमारे शारीरिक स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए बहुत ही आवश्यक माने जाते हैं। अंडे का सेवन करने से शरीर की बीमारियों को भी दूर किया जा सकता है। हम अंडे का सेवन अलग अलग प्रकार से कर सकते हैं। 

अंडा उबालकर, अंडे की भुर्जी, आमलेट बना कर या कच्चा अंडा पीकर, ऐसे कई तरीकों से आप अंडे का सेवन कर सकते हैं। कई लोग अंडे का कच्चा ही सेवन करते हुए दिखाई देते हैं। कच्चे अंडे में प्रोटीन, विटामिन, ओमेगा 3, बायोटीन, ज़िंक जैसे तत्व मौजूद होते हैं। अंडा पकाने पर इन तत्वों में काफी हद तक कमी आ जाती है। लेकिन, कच्चा अंडा खाने से यह तत्व आपको अधिक मात्रा में मिल सकते हैं। लेकिन, कई बार लोग कच्चा अंडा खाने से कतराते हैं; क्योंकि संक्रमण का खतरा बना रहता है। तो दोस्तों, आज जानेंगे सीमित मात्रा में कच्चे अंडे का सेवन करने से शरीर को मिलने वाले फायदे और नुकसान के बारे में।

कच्चा अंडा पीने के फायदे

उचित और सीमित मात्रा में कच्चा अंडा का सेवन करने से शरीर को कई सारे लाभ मिलते हैं।

१) बायोटीन का सोर्स-

शाकाहारी पदार्थों में बायोटिन काफी कम मात्रा में पाया जाता है। लेकिन, अंडे के पीले भाग में बायोटिन अधिक मात्रा में मिलता है। बायोटिन हमारे नाखून, बाल और त्वचा के लिए बहुत ही उपयुक्त होता हैं। इसी के साथ, डायबिटीज और अवसाद जैसी बीमारियों के लिए भी बायोटीन काफी उपयुक्त होता है। इसीलिए, कच्चा अंडा पीने से शरीर को उचित मात्रा में बायोटिन मिलता है और उसके साथ ही कई स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं।

२) विटामिंस से भरपूर-

विटामिन ई, ए, डी, के तथा विटामिन बी कॉन्प्लेक्स से भरपूर कच्चा अंडा पीने से शरीर को इन सभी विटामिंस का पोषण उचित मात्रा में मिलता है। राइबोफ्लेविन शरीर के फैट्स, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन को तोड़ता है। इसी के साथ, राइबोफ्लेविन तंत्रिका कोशिकाओं और ब्लड सेल्स को उचित रूप से कार्य करने में मदद करता है। कच्चे अंडे में मौजूद फोलिक एसिड नए सेल्स को बनाने में मददगार होता है। विटामिन से भरपूर कच्चे अंडे का सेवन करने से शरीर के सारे कार्यप्रणाली को उचित रूप से काम करने में मदद मिलती है।

३) एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर-

बढ़ती उम्र के साथ, मांसपेशियां कमजोर हो जाती है। इन कमजोर मांसपेशियों को मजबूत बनाने में कच्चे अंडे का सेवन आपको मदद कर सकता है। कच्चे अंडे में एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा अधिक होती है; जो हमारे शरीर में इम्यूनिटी को बढ़ाने का काम करती है, मांसपेशियों को मजबूती मिलती है और हम कई सारे रोगों से बच सकते हैं।

४) हृदय का स्वास्थ्य-

कच्चे अंडे में मौजूद ओमेगा 3 फैटी एसिड बैड कोलेस्ट्रॉल को घटाकर हृदय का स्वास्थ्य बनाए रखते हैं। इसी के साथ, कच्चे अंडे में पाए जाने वाला एचडीएल या “अच्छा” कोलेस्ट्रोल बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। इसी कारण, हमारे ह्रदय का स्वास्थ्य बढ़ता है और हम हृदय संबंधित बीमारियों से दूर रह सकते हैं।

कच्चा अंडा पीने के नुकसान-

कच्चा अंडा और उबला हुआ अंडा इन दोनों के न्यूट्रिएंट्स वैल्यू में काफी फर्क होता है। अंडा प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत माना गया है; इसीलिए कई लोग अंडे का सेवन कई तरह से करते हैं। लेकिन, कच्चा अंडा खाने पर शरीर को कई बार नुकसान भी झेलने पड़ते हैं।

१) बैक्टेरियल इंफेक्शन-

कच्चा या अधपका अंडा खाने से कई बार शरीर के लिए नुकसानदायक सालमोनेला बैक्टीरिया के इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है। इन बैक्टीरिया के कारण, कच्चे अंडे का सेवन करने से हमें पेट में दर्द, ऐठन, फूड प्वाइजनिंग, डायरिया, उल्टी, बुखार जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। 

यह सालमोनेला बैक्टीरिया किसी भी हेल्थी इंसान को भी बीमार कर सकता है। लेकिन, वयस्क बुजुर्ग लोग, गर्भवती महिलाएं, छोटे बच्चे, कमजोर इम्यूनिटी वाले लोग ऐसे लोगों में इसका खतरा अधिक देखा जा सकता है।

२) किडनी की समस्या-

जिन लोगों को पहले ही किडनी की समस्या है; ऐसे लोगों में ग्लौमेरुलर फिल्ट्रेशन रेड पहले से ही कम होता है। यह ग्लौमेरुलर फिल्ट्रेशन रेट फ्लूइड फ्लो रेट है; जो किडनी को फिल्टर करने का काम करता है। ऐसे में, कच्चे अंडे का सेवन करने से यह फ्लो रेट कम हो जाता है। क्योंकि, कच्चे अंडे में जो प्रोटीन मौजूद होता है; वह इस रेट पर असर करता है और यह रेट कम हो जाता है।

३) एलर्जी-

बहुत सारे लोगों को कच्चे अंडे के सफेद भाग खाने से भी एलर्जी हो जाती हैं। बॉडी पर रेडनेस, रैशेज, खुजली, सूजन, ऐठन, डायरिया जैसे लक्षण देखने को मिलते हैं। जिन लोगों को इसे एलर्जी होती है, उन लोगों में सांस लेने की तकलीफ, बेहोशी, लो ब्लड प्रेशर जैसी समस्याएं हो जाती हैं। 

दोस्तों, आज के लिए बस इतना ही। उम्मीद है, आपको आज का कच्चा अंडा पीने के फायदे और नुकसान यह ब्लॉग अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

अधिक पढ़ें : पॉवर नैप क्या है, फायदे और कैसे ले

Leave a Comment

error: Content is protected !!