पीरियड मिस होना या पीरियड्स आने में लेट होने की समस्या का इलाज

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? आज का हमारा विषय है पीरियड मिस होना या पीरियड्स आने में लेट होने की समस्या का इलाज,हम सभी जानते हैं, हर महिला और लड़की को हर महीने मासिक धर्म के प्रक्रिया से गुजरना ही पड़ता है। उस दौरान उसे होने वाली तकलीफ के बारे में हमें अंदाजा होता है। कई बार खराब जीवनशैली और दिनचर्या के चलते महिलाओं में पीरियड लेट आना या मिस हो जाना जैसे समस्या देखी जाती हैं। आमतौर पर, जो महिलाएं मां बनना चाहती हैं; उनके लिए पीरियड्स मिस होना खुशखबर साबित होती है। लेकिन, पीरियड्स मिस होना या लेट आना कई सारी महिलाओं के लिए तकलीफदेह भी होता है। 

आमतौर पर, मासिक धर्म का चक्र २१-३५ दिनों का होता है। इस दौरान अगर आपके पीरियड्स बस ३५ दिनों के बाद भी नहीं आते हैं; तो हो सकता है आपको कोई समस्या हो, जो किसी अंदरूनी मेडिकल समस्या का संकेत दे रहे हो। पीरियड्स न आने की समस्या वैसे तो कोई गंभीर समस्या नहीं होती है। लेकिन, कई बार यह बड़ी बीमारियों के खतरा का संकेत हो सकती है। तो दोस्तों, आज जानेंगे पीरियड मिस होना या पीरियड्स आने में लेट होने की समस्या का इलाज

पीरियड्स मिस होने या लेट होने का कारण

पीरियड्स मिस होने का सबसे बड़ा कारण होता है प्रेगनेंसी। इसके अलावा, कई अन्य कारण भी देखे जाते हैं।

१) ब्रेस्टफीडिंग-

डिलीवरी के बाद महिलाओं के हार्मोनल संतुलन में काफी गड़बड़ी देखी जाती है। डिलीवरी के बाद महिलाओं के शरीर का संतुलन बनाए रखना बहुत ही कठिन काम होता है और उस में देरी लग सकती हैं। इस कारण, ब्रेस्ट फीडिंग के दौरान महिलाओं को पीरियड्स आने में भी तकलीफ होती है। पीरियड लेट होना या मिस होना जैसी तकलीफे ब्रेस्टफीडिंग के कारण भी हो सकती है।

२) शारीरिक बीमारी-

आज के दौर में कई महिलाएं डायबिटीज, हाई बीपी और थायराइड जैसी शारीरिक बीमारियों से जूझ रही है। थायराइड महिलाओं के शरीर में एक बहुत ही महत्वपूर्ण हार्मोन होता है; जो शरीर में हार्मोन्स के संतुलन को बनाए रखता है। थायराइड के दौरान, हार्मोनल असंतुलन की वजह से भी पीरियड मिस हो सकते हैं। डायबिटीज और हाई बीपी में भी पीरियड्स को प्रभावित करने की क्षमता होती है।

३) हार्मोनल इंबैलेंस-

गर्भनिरोधक गोलियों का अधिक मात्रा में सेवन करने से भी हार्मोन में बदलाव देखे जाते हैं; जिसका सीधा परिणाम मासिक चक्र के ऊपर होता है। इसी कारण, पीरियड मिस या लेट हो सकते हैं। वहीं दूसरी ओर, जिन लड़कियों का पीरियड्स अभी अभी शुरू हुआ है और जिन महिलाओं को पीरियड खत्म होने की बारी आ गई है, जिसे “मेनोपॉज” कहते हैं; उन महिलाओं और लड़कियों में भी पीरियड्स का असंतुलन या पीरियड मिस होना देखा जा सकता है।

४) पी सी ओ एस-

“पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम” यह पीरियड मिस होने, लेट आने या पीरियड में असंतुलन होने का सबसे बड़ा कारण माना जाता है। इस स्थिति में महिलाओं का अंडाशय ठीक तरीके से काम नहीं कर पाता है और उसमें छोटी छोटी सिस्ट हो जाती हैं। इसी कारण, महिलाओं में पीरियड लेट होना या मिस होना जैसी दिक्कतें दिखने लगती है। इसी पीसीओएस के साथ, महिलाओं प्रेग्नेंट होने में भी काफी परेशानियां आती है।

५) स्ट्रेस-

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में तनाव ग्रस्त जीवन पद्धति जीने के लिए हम मजबूर हो गए हैं। इसी तनाव के कारण महिलाओं में पीरियड लेट आना या पीरियड मिस होने जैसी परेशानियां उत्पन्न हो सकती हैं।

पीरियड्स मिस होना या लेट आने के इलाज-

पीरियड्स मिस होने की समस्या की गंभीरता जानने के लिए डॉक्टर महिलाओं का परीक्षण करते हैं और उनसे कुछ सवाल पूछते हैं। पीरियड्स मिस होने का इलाज करने से पहले उसका निदान ठीक तरीके से होना बहुत ही जरूरी होता है। 

पीरियड मिस होने का निदान करने के लिए डॉक्टर महिलाओं को कुछ टेस्ट करवाने की सलाह देते हैं। जैसे; थाइरोइड,ग्लूकोज और प्रोलैक्टीन के स्तर का टेस्ट करना। वहीं दूसरी ओर, महिलाओं के अंडाशय एवं गर्भाशय के टेस्ट जैसे एम आर आई या अल्ट्रासाउंड सोनोग्राफी करने का सुझाव देते हैं। इस तरीके से उचित निदान होने पर उचित तरीके की ट्रीटमेंट देना आसान हो जाता है।

१) डाइट-

कई बार गलत खानपान की पद्धति के कारण के महिलाओं के शरीर में हार्मोन में बदलाव आ जाते हैं; जिस कारण पीरियड मिस हो जाना या लेट हो जाना जैसे समस्याएं हो सकती हैं। इससे निजात पाने के लिए डॉक्टर आपको कुछ आहैर परिवर्तन करने की सलाह देंगे। उससे हारमोंस के लेवल नियंत्रित हो पाएगी और पीरियड मिस होने की समस्या अपने आप ही ठीक हो जाएगी।

२) हार्मोन थेरेपी-

लगभग ८० से ९०% महिलाओं को हार्मोन में गड़बड़ी होने के कारण पीरियड्स मिस होने की समस्या देखी जाती है। यह समस्या हार्मोन थेरेपी देने से ठीक की जा सकती हैं। मासिक धर्म को नियमित करने के लिए महिलाओं को गर्भनिरोधक गोलियां करीब दो महीने तक दी जाती हैं; जिससे पीरियड रेगुलर आने में मदद मिलती है।

३) सर्जरी-

अगर किसी ट्यूमर के कारण आपको पीरियड्स मिस होने की समस्या हो रही हो; तो डॉक्टर आपको सर्जरी करने का सुझाव देते हैं और इसी के चलते आपके पीरियड्स रेगुलर हो जाते हैं। आमतौर पर, डॉक्टर आपको सर्जरी करने की सलाह नहीं देते हैं। जितना हो सके, उतना मेडिसिन देकर ही इस समस्या से निजात पाया जाता है।

पीरियड्स मिस होने या लेट होने की समस्या के लिए घरेलू उपचार

पीरियड मिस होने की समस्या को लेकर आप अगर ज्यादा चिंतित हैं; तो आप कुछ घरेलू नुस्खे भी आजमा कर देख सकती है।

१) दालचीनी-

मासिक धर्म से जुड़ी तकलीफों को कम करने के लिए दालचीनी का इस्तेमाल किया जा सकता है। एक गिलास गर्म दूध में आधा चम्मच दालचीनी का पाउडर मिलाकर पीने से पीरियड रेगुलर किए जा सकते हैं। दालचीनी गर्म तासीर वाली होती है। इसीलिए, इसका सेवन पीरियड्स को रेगुलर करने में किया जाता है।

२) अदरक-

अदरक का सेवन करने से पीरियड मिस होना या लेट होना जैसी समस्याओं में राह देखी जा सकती हैं। इसके लिए रोज एक कप पानी में आधा टुकड़ा अदरक डालकर पानी को उबाले। स्वाद अनुसार शहद और काली मिर्च मिलाकर इसका सेवन दिन में तीन बार करें। एक महीने तक रोजाना दिन में तीन बार पानी का सेवन करने से पीरियड मिस होने की समस्या को ठीक किया जा सकता है।

३) पाइनएप्पल-

अनानास में मौजूद ब्रोमलिन नामक एंजाइम गर्भाशय की परत को नरम बनाने का काम करता है। इसी कारण, हमारे पीरियड साइकिल को नियमित किया जा सकता है। पीरियड मिस होने या लेट आने की समस्या के ऊपर आप पाइनएप्पल का सेवन अवश्य करें। यह अनियमित मासिक धर्म के लिए एक प्रसिद्ध घरेलू नुस्खा साबित होता है।

४) मेथी के दाने-

मेथी के दानों को रात भर पानी में भिगोकर रखें और सुबह इस पानी को पिए। इसी के साथ, मेथी के दानों को पानी में उबालकर भी आप इनका सेवन कर सकते हैं। इस तरीके से मेथी के दानों का सेवन करने से अनियमित मासिक धर्म से राहत मिलती है। पीरियड मिस होना या लेट आना जैसी समस्याओं के लिए भी मेथी के दानों का पानी काफी कारगर साबित होता है।

दोस्तों, मासिक धर्म के दौरान या मासिक धर्म से जुड़ी कोई भी तकलीफ को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। इसके लिए तुरंत घरेलू नुस्खे आजमाना शुरू करें या डॉक्टर से उचित सलाह जरूर लें।

तो दोस्तों, आज के लिए बस इतना ही। उम्मीद है, आपको आज का पीरियड मिस होना या पीरियड्स आने में लेट होने की समस्या का इलाज यह ब्लॉग अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

अधिक पढ़ें : अंडर आर्म्स काले ना हो इसके लिए क्या करें ?

Leave a Comment

error: Content is protected !!