पायरिया के लिए बेस्ट टूथपेस्ट कौन सा होता है ?

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? आज हम बात करने वाले हैं पायरिया के लिए बेस्ट टूथपेस्ट कौन सा होता है? इसके बारे में, आजकल छोटे बच्चों से लेकर बड़े लोगों तक दातों तथा मसूड़ों की समस्या बढ़ती जा रही है। बदली हुई जीवन शैली तथा खान-पान की पद्धति में आया बदलाव कुछ हद तक इसका कारण हो सकता है। पायरिया या पिरियोडोंटिटिस मसूड़ों का गंभीर संक्रमण है; जो आजकल लोगों के बीच काफी आम होते जा रहा है। दुनिया भर में कई लोग इस समस्या से ग्रसित है।

एक्सपर्ट्स के अनुसार, हमारे दांतो में अलग-अलग बैक्टीरिया की प्रजातियां मौजूद होती है। जब हम खाना खाते हैं, तो दांत में कुछ ना कुछ अटका रहता है। इस खाने से इन जीवाणुओं को न्यूट्रिशन मिलता है और वह हमारे दांतो तथा मसूड़ों के आसपास जमना शुरू हो जाते हैं। इसी वजह से हमारे दांतो तथा मसूड़ों की हड्डियों को नुकसान पहुंचता है।

समस्या गंभीर होने पर हड्डी धीरे-धीरे गलने लगती हैं और इसी समस्या को पायरिया कहते हैं। पायरिया का तुरंत ही इलाज करना चाहिए; वरना यह बीमारी बढ़ कर इतनी बड़ी हो जाती है, कि दांत हिलना और ढीले होना शुरू हो जाता है। इसी के साथ, मसूड़ों में सूजन, जलन, मसूड़ों से खून बहना, खाना खाने में तकलीफ होना इन सभी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। मार्केट में ऐसे कई टूथपेस्ट उपलब्ध हैं, जिनका उपयोग करने से पायरिया खत्म हो सकता है। लेकिन, इनका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें। दोस्तों, आज हम जानेंगे पायरिया के लिए सबसे बेस्ट टूथपेस्ट कौन सा है।

पायरिया के कारण

पायरिया होने का सबसे बड़ा कारण है, मुंह की स्वच्छता ना रखना। इसके साथ साथ, इसके अलग-अलग कारण भी होते हैं।

१) ओरल हाइजीन मेंटेन ना रहना, मुंह की ठीक से सफाई ना करना।

२) शारीरिक बीमारियां जैसे; लीवर संबंधित समस्याएं, डायबिटीज, मोटापा, एचआईवी, महिलाओं में हार्मोनल परिवर्तन आदि के कारण भी पायरिया होता है।

३) धूम्रपान, शराब तथा तबाकू का सेवन करने से पायरिया का खतरा बढ़ता है।

४) खराब पोषण और विटामिन सी की कमी।

५) मांसाहार करना तथा भोजन को ठीक से चबाकर ना खाना।

६) अपच की समस्या, कब्ज होना।

पायरिया के लक्षण

पायरिया दातों से संबंधित रोग है, जो मसूड़ों पर भी काफी प्रभाव डालता है। पायरिया के लक्षण तुरंत दिखना शुरू हो जाते हैं। इन पर गौर करके इनका इलाज करना बहुत जरूरी होता है। तो आइए देखते हैं, पायरिया के लक्षण कौन से होते हैं।

१) दांतों में झनझनाहट महसूस होना, दांत ढीले होकर हिलने लगना।

२) मसूड़ों में सूजन, जलन होना।

३) मसूड़ों से खून तथा मवाद निकलना।

४) दातों पर प्लाक जमा होना और मुंह से बदबू आने लगना।

५) दांतो की स्थिती में बदलाव आना तथा खाना खाते समय दांतों में दर्द महसूस होना।

पायरिया के लिए बेस्ट टूथपेस्ट

पायरिया की समस्या से निजात पाने के लिए आप डॉक्टर की सलाह अनुसार टूथपेस्ट का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप जब डेंटिस्ट के पास जाएंगे, तो डॉक्टर आपके दातों का अच्छे से चेकअप करेंगे। पायरिया की समस्या की गंभीरता के अनुसार डॉक्टर आपको कुछ टूथपेस्ट सजेस्ट करेंगे; जिनका इस्तेमाल करने से पायरिया से आपको छुटकारा मिल सकता है। ध्यान रहे, कोई भी टूथपेस्ट अपने मन से इस्तेमाल ना करें; इसके लिए डॉक्टर की सलाह जरूर लें। मार्केट में आजकल बहुत सारे एडवांस्ड टूथपेस्ट है जो डॉक्टर रिकमेंड होते हैं और इनका इस्तेमाल दातों तथा मसूड़ों के लिए काफी लाभकारी होता है।

१) मेस्वाक-

मेस्वाक टूथपेस्ट संपूर्ण प्राकृतिक जड़ी बूटियों से निर्मित टूथपेस्ट है। इसका इस्तेमाल करने से हमारे दांतो की समस्या तथा मसूड़ों की समस्या से हमें छुटकारा मिलता है। दांतो की झनझनाहट, फूले हुए मसूड़े, मसूड़ों से खून आना, पायरिया, मुंह से बदबू आना आदि समस्याओं के लिए मिस्वाक काफी गुणकारी होता है।

२) हिमालया हिओरा टूथपेस्ट-

लौंग, त्रिफला, बबूल जैसे प्राकृतिक घटको से इस टूथपेस्ट को बनाया गया है। यह टूथपेस्ट जिन्जीवाइटिस, पायरिया के लिए बहुत ही गुणकारी माना जाता है। इसके उपयोग से दांतों की समस्याओं से निजात आ सकते हैं। यह आयुर्वेदिक टूथपेस्ट होने के कारण इसे आप बिना डॉक्टर की सलाह के भी इस्तेमाल कर सकते हैं। मरीज की उम्र, लिंग और मेडिकल हिस्ट्री के अनुसार इस टूथपेस्ट का इस्तेमाल करना चाहिए। इसीलिए बेहतर होगा, कि इस पेस्ट का इस्तेमाल करने से पहले आप डॉक्टर से उचित सलाह जरूर लें।

३) विक्को वज्रदंती-

विको वज्रदंती को हमारे देश का सबसे पुराना टूथपेस्ट माना जाता है। लगभग १८ जड़ी बूटियों का इस्तेमाल करके इस टूथपेस्ट का निर्माण किया जाता है। यह पूरी तरह से प्राकृतिक घटकों से बनाया गया टूथपेस्ट है। इस टूथपेस्ट का इस्तेमाल करने से दांतों की झनझनाहट, मसूड़ों में सूजन, पायरिया, जिंजिवाइटिस जैसे समस्याओं से हमें काफी राहत मिलती है। इसीलिए, पायरिया के मरीजों को इस टूथपेस्ट का इस्तेमाल करना चाहिए।

४) पेप्सोडेंट जी गम केयर-

१८ घंटों तक जर्म प्रोटेक्शन देने के लिए यह जाना माना टूथपेस्ट है। इसमें गमगार्ड और जर्मिचेक यह एंटी बैक्टेरियल गुण है, जो मसूड़ों की समस्या से छुटकारा दिलाता हैं। इस पेस्ट का इस्तेमाल करने से हाई रिस्क एरिया में सही प्रोटेक्शन मिलता है। इसी के साथ, दांतों का पीएच बैलेंस बनाए रखता है और दांतो पर होनेवाले एसिड अटैक को रोकता है। अपने मसूड़ों को पायरियां से दूर रखने के लिए इस टूथपेस्ट का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए।

५) पतंजलि दंत कान्ति-

बहुत ही कम समय में लोकप्रिय होने वाला पतंजलि दंत कांति टूथपेस्ट सामान्य लोगों के दांतों की देखभाल के लिए एक वरदान साबित हो रहा है। यह प्राकृतिक घटक को से बनाया गया हर्बल टूथपेस्ट है। इस टूथपेस्ट का इस्तेमाल करने से हमें दातों की तथा मसूड़ों की समस्या से छुटकारा मिलता है। यह टूथपेस्ट मसूड़ों में आई सूजन, फुले मसूड़े, दातों की समस्याएं तथा पायरिया जैसी समस्याओं के लिए बहुत ही प्रभावी है। कंपनी का दावा है, कि यह टूथपेस्ट बैक्टीरियल इनफेक्शन को रोकता है; इसीलिए आप के मसूड़े स्वस्थ बने रहते हैं।

६) कोलगेट एक्टिव साल्ट नीम टूथपेस्ट-

पुराने जमाने से ही दातों की समस्याओं के लिए नीम का इस्तेमाल करते आ रहे हैं। इस टूथपेस्ट में मौजूद नीम पायरिया की वजह से होने वाले मसूड़ों की तकलीफ से राहत पहुंचाता है। इसी के साथ, नमक बैक्टीरियल संक्रमण को रोकता है। पायरिया के मरीजों को इस टूथपेस्ट का इस्तेमाल करना चाहिए।

दोस्तों, जैसे वृक्ष की जड़े मजबूत होने से वृक्ष मजबूत रहता है और उसे सही पोषण मिलता है; उसी तरह हमारे दांतो का स्वास्थ्य ठीक होने से हमारे शरीर को सही पोषण मिलता है और हम कई संक्रमण से बच सकते हैं। इसीलिए, रोजाना दिन में दो बार ब्रश जरूर करें, अपने ओरल हाइजीन मेंटेन रखें और दांतों की समस्या होने पर डेंटिस्ट की सलाह जरूर लें।

उम्मीद है, आपको आज का पायरिया के लिए बेस्ट टूथपेस्ट कौन सा होता है ?, यह ब्लॉग अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

अधिक पढ़ें : सरसो तेल से बच्चे को गोरा करने का तरीका

Leave a Comment

error: Content is protected !!