नींद आने के उपाय – बाबा रामदेव

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? आज का हमारा विषय है, नींद आने के उपाय ,पिछले कुछ सालों से मानव जाति की जीवन शैली बहुत बदल चुकी है। शहरों के साथ-साथ गांव में भी आधुनिकता बढ़ गई हैं। लोग काम करने के लिए और पैसे कमाने के लिए बहुत भागदौड़ करते हैं। लोगों की अपेक्षाएं बढ़ गई है, अपेक्षाएं पूर्ण ना होने से लोग स्ट्रेसफुल लाइफ जीते हैं। अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए बहुत भागा दौड़ी करते हैं और अपने जीवन का आनंद नहीं ले पाते हैं। बदली हुई जीवन शैली के साथ मानव जाति को बहुत सारे रोगों का सामना करना पड़ रहा है। इसी में से एक है नींद ना आने की समस्या।

बदली हुई जीवनशैली के अनुसार, लोग जंक फूड, कोल्ड ड्रिंक्स जैसे पदार्थों का सेवन करते हैं, जो हमारे शरीर के लिए घातक होते हैं। इसी के साथ, लोग रात में देर से सोते हैं और सुबह देर से उठते हैं। इस खराब जीवनशैली की वजह से लोगों के शरीर पर उसका बुरा असर पड़ता है। नींद पूरी न होने की वजह से लोगों को शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इस समस्या से निजात पाने के लिए योग तथा प्राणायाम को अपना सकते हैं। यह साइड इफेक्ट रहित और बहुत ही सरल उपाय हैं। इसीलिए, आज हम जानेंगे नींद आने के उपाय जो बाबा रामदेव जी ने सुझाए हैं।

 

योग-प्राणायाम परिचय

योग तथा प्राणायाम हमारे देश में प्राचीन काल से चला आ रहा है। लेकिन, जैसे-जैसे आधुनिकता बढ़ती गई; वैसे वैसे इस योग प्राणायाम को लोग भूलते गए। पिछले कुछ सालों में बाबा रामदेवजी के प्रयासों से भारत में योग और प्राणायाम का महत्व फिर से बढ़ने लगा है। बीच के काल में पाश्चिमात्य संस्कृति अपनाने से लोगो को काफी विकारों का सामना करना पड़ रहा था। डॉक्टर की दवाइयां खाकर साइड इफेक्ट्स हो रहे थे और उनकी सेहत पर बहुत बुरा असर पड़ रहा था। लोग ऐसा कुछ उपाय ढूंढ रहे थे, जिससे साइड इफेक्ट भी ना हो और सेहत भी ठीक रहे। ऐसे में योग, प्राणायाम उनके लिए एक बेहतर विकल्प साबित हुआ। आज लोग योग तथा प्राणायाम को अपने जीवनशैली का अभिन्न अंग मानने लगे हैं। बाबा रामदेवजी ने ना सिर्फ योग तथा प्राणायाम को भारत की संस्कृति के रूप में विश्व के सामने प्रस्तुत किया; बल्कि लोगों के अनेक बीमारियों के लिए आचार्य बालकृष्ण जी के साथ मिलकर पतंजलि की विविध औषधियां भी तैयार की, जिससे लोगों को काफी लाभ मिल रहा है।

नींद आने के लिए बाबा रामदेव जी ने सुझाए उपाय

योग तथा प्राणायाम करने से शरीर के हर बीमारी के ऊपर हम विजय प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन, उसमें नियमितता होनी चाहिए। अगर आप एक दिन करेंगे और चार दिन नहीं करेंगे, तो इसका लाभ आपको नहीं मिल सकता। नींद ना आने की समस्या आजकल बढ़ती जा रही है और इस पर आप कोई दवाई भी नहीं खा सकते हैं। क्योंकि, यह दवाई खाने से आपको इसकी आदत लग सकती हैं। इसीलिए, बाबा रामदेव जी ने कुछ उपाय सुझाए हैं; जिसको अपनाने से आप गहरी नींद और अच्छी नींद ले सकते हैं। 

१) पश्चिमोत्तानासन-

इस आसन को करने से आपके दिमाग को काफी शांति मिलती है। इस आसन को करने के लिए अपने पैर सीधे करके बैठ जाएं। अपने हाथ सिर के ऊपर ले जाए और धीरे-धीरे आगे की तरफ झुके। अपने हाथों की उंगलियों से पैरों की उंगलिया छूने की कोशिश करें। अपने सिर को घुटनो से लगाने की कोशिश करें। जाहिर है, पहली बार में यह पॉसिबल नहीं होगा। लेकिन, धीरे-धीरे अभ्यास करके आप यह आसन आसानी से कर सकेंगे। इस आसन को करने से आपका शरीर काफी  रिलैक्स फील करता है और आपको गहरी नींद आने में मदद मिलती है।

              

२) शवासन-

शवासन करने से आपके शरीर को राहत मिलती है। आपके शरीर में जो थकान महसूस हो रही है, उसे कम करने में मदद मिलती हैं। आपका दिल, फेफड़े और किडनी हेल्थी रखने में सहायक होता है। शवासन करने के बाद आप तनावमुक्त महसूस करते हैं और इसी वजह से अनिद्रा की समस्या से आपको राहत मिल पाती हैं।

 

३) अनुलोम विलोम-

अनुलोम विलोम प्राणायाम करने से आपके शरीर में ऑक्सीजन की उचित मात्रा बनी रहती है। इसी के साथ, आपके फेफड़े मजबूत और निरोगी रहते हैं। अनुलोम विलोम दिन में ३-४ बार करने से आप तनावमुक्त महसूस करते हैं। जिन लोगों को नाक से संबंधित बीमारियां हैं, उनके लिए भी अनुलोम-विलोम काफी उपयुक्त साबित होता है। क् चुकीं, यह आपके स्ट्रेस को कम करता है; इसीलिए यह प्राणायाम करने से आपको गहरी नींद आती है।

४) भस्त्रिका-

आईएस प्राणायाम का अभ्यास करने से शरीर में ऑक्सीजन की उचित मात्रा बनी रहती है। जिससे जिन लोगों को अस्थमा, सांस लेने में दिक्कत जैसी समस्याएं दूर हो जाती है। इसी के साथ, जिन लोगों को नाक संबंधित बीमारियां हैं और छाती में बलगम जमा हो जाती हैं; उनके लिए भी यह प्राणायाम काफी असरदार होता है। इस प्राणायाम को करने से तनावमुक्त महसूस होता है और नींद भी अच्छी आती है। इसी के साथ, यह प्राणायाम का अभ्यास करने से आपका ह्रदय, फेफड़े स्वस्थ रहते हैं। 

५) उज्जायी-

इस प्राणायाम का अभ्यास करने से अनिद्रा की समस्या से छुटकारा मिलता है। इसी के साथ, यह प्राणायाम हृदय को स्वस्थ रखने के लिए और थायराइड जैसी बीमारी से मुक्ति पाने के लिए भी प्रभावी होता है। यह प्राणायाम करने से आपको दिनभर चुस्त, तंदुरुस्त और एनर्जी से भरा महसूस होता है। 

 

६) सूक्ष्म व्यायाम-

सूक्ष्म व्यायाम करने में काफी आसान और सरल होते हैं। सूक्ष्म व्यायाम करने से आप दिनभर चूस्त महसूस करते हैं। आपको दिन में थकान महसूस नहीं होती है। आपके पूरे ही शरीर का व्यायाम होने की वजह से आपको रिलैक्स महसूस होता है। इसी के साथ, आपकी अनिद्रा की समस्या के लिए भी सूक्ष्म व्यायाम बहुत ही लाभकारी होता है।

नींद आने के उपाय अन्य उपाय

बाबा रामदेव जी ने सुझाएं उपायों के साथ साथ, आप कुछ अन्य उपायों को भी आजमा कर देख सकते हैं। यह उपाय आपके लिए काफी सरल और आसान है।

  1. सबसे पहले तो सोने और जागने का समय निश्चित करें। ऐसा समय तय करें जिस समय आपको थकान महसूस हो रही हो और आपको जल्द ही नींद आ जाए। इस उपाय को ट्राई करने से आपके शरीर को वक्त पर सोने और जागने आदत लग जाती हैं।
  2. चाय, कॉफी, कोल्ड ड्रिंक्स या शराब जैसी चीजों का सेवन रात के टाइम नहीं करना चाहिए। इसकी वजह से आपकी नींद में बाधा उत्पन्न हो जाती है। इसके अलावा, रात को सोने के समय हल्दी वाला दूध या हर्बल टी का सेवन कर सकते हैं; इससे आपको गहरी नींद आने में मदद मिलती है।
  3. धूम्रपान तथा तंबाकू के पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए। यह उत्तेजक पदार्थ होते हैं। इसकी वजह से आपकी नींद में बाधा उत्पन्न होकर गहरी नींद नहीं आ पाती हैं और आप बार-बार रात में उठते हैं।
  4. रात को खाना खाने के थोड़ी देर बाद टहलने जाए। वॉक करने से आपके दिनभर की थकान दूर होती है और आपको गहरी नींद आने में मदद मिलती है। याद रखें, रात को सोने से पहले जिम या ऐसे जोरदार व्यायाम नहीं करना चाहिए। क्योंकि, यह आपको जागृत रखते हैं।
  5. कभी-कभी हमें स्ट्रेस की वजह से भी नींद नहीं आती है। ऐसे में आप आपकी सारी चिंताएं, अपनी भावनाएं डायरी में लिख दे। इससे आपके मन से वह बातें निकल जाती हैं और रात को आप शांति से सो सकते हैं।

दोस्तों, योग तथा प्राणायाम और ऐसे ही अच्छी आदतों को अपने जीवन शैली का अभिन्न अंग बनाइए और अनिद्रा जैसी बीमारी से छुटकारा पाइए। उम्मीद है, आपको आज का यह ब्लॉग अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

अधिक पढ़ें : सलाद के पत्ते के फायदे और नुकसान

Leave a Comment

error: Content is protected !!