नीचे बैठकर खाना खाने के फायदे

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? दोस्तों,आज जानेंगे नीचे बैठकर खाना खाने के फायदे, हमारे भारत देश की संस्कृति बहुत ही प्राचीन और संपन्न है। हमारी संस्कृति की हर एक क्रिया में साइंस छिपा हुआ है। लेकिन, हम भारतीय हमारी संस्कृति और उसके पीछे के विज्ञान को भूलते जा रहे हैं। हम हमारी जीवन पद्धति में कुछ ऐसे बदलाव ला रहे हैं; जिनका हमारे शरीर के ऊपर काफी नेगेटिव और बुरा असर पड़ता है। पुराने जमाने से ऋषि, मुनि, आदिमानव से लेकर मध्यमयुगीन जमाने के लोगों तक हम नीचे बैठ कर खाना खाना पसंद करते थे। नीचे बैठकर खाना खाने की पद्धति आम तथा सामान्य लोगों में आज भी प्रचलित हैं।

लेकिन, मॉडर्न युग में नीचे बैठकर खाना खाने की पद्धति को पुराने जमाने से जोड़ा जाता है। मॉडर्न जमाने में यह पद्धति ओल्ड फैशन मानी जाती है। लेकिन, क्या आप जानते हैं नीचे बैठकर खाना खाने से हमारे शरीर को इतने लाभ मिलते हैं? इससे हमें इतने लाभ मिलते हैं, हम सोच भी नहीं सकते!! आजकल डाइनिंग टेबल पर खाना खाने का आनंद लेना एक मॉडर्न पद्धति तथा स्टेटस की बात हो गई है। तो दोस्तों, आज जानेंगे नीचे बैठकर खाना खाने के फायदे और क्या लाभ मिलते हैं।

नीचे बैठकर खाना खाने के फायदे

नीचे बैठ कर खाना खाने से हमारे शरीर को फायदे तो मिलते ही हैं। लेकिन, इससे हमारे परिवार के बॉन्डिंग भी बनी रहती हैं। इसे एक खुशहाल परिवार का प्रतीक माना गया है। सबसे पहले तो यह एक प्राचीन भारतीय पद्धति है; जिसे विज्ञान से भी जोड़ा जा सकता है। हमारी संस्कृति का हमें आदर करना चाहिए और उसके पीछे छिपे राज पता लगाना चाहिए।

१) दिल की मजबूती-

नीचे बैठ कर खाना खाने से हमारा ब्लड सरकुलेशन सुचारू रूप से होता है। ब्लड सरकुलेशन योग्य पद्धति से होने पर दिल मजबूत होता है और ह्रदय संबंधित रोगों से हमें मुक्ति मिलती है। इसी के साथ, ह्रदय का कार्य ठीक तरह से होता है और ह्रदय सभी अंगों तक खून को बड़ी आसानी से पहुंचाता है। लेकिन, जब हम कुर्सी पर बैठकर खाना खाते हैं; तो हमारा ब्लड सरकुलेशन पैरों की तरह होता है, जो कि खाना खाते वक्त जरूरी नहीं है। दिल की मजबूती बनाए रखने के लिए नीचे बैठकर खाना खाने की पद्धति को अपनाएं।

२) दिमाग की शांति-

नीचे बैठकर खाना खाने की पद्धति को आयुर्वेद से जोड़ा गया है। जब हम नीचे बैठकर खाना खाते हैं, तो उसे सुखासन में बैठना कहते हैं। सुखासन में बैठने से हमारे दिमाग को शांति मिलती है और दिमाग तेज बनता है। आयुर्वेद के अनुसार, नीचे बैठ कर खाना खाने से ब्रेन रिलैक्स होता है और ब्रेन सेल्स उचित तरह से काम करती हैं। इसी के साथ, नीचे बैठ कर खाना खाने से खाने की संतुष्टि मिलती है; जो हमारे मानसिक स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है। 

३) मांसपेशियों की मजबूती-

जब आप पद्मासन में बैठकर खाना खाते हैं, तो इससे आपके पाचन तंत्र को मजबूती मिलती हैं। पेट के आसपास का हिस्सा, घुटने, लोअर बैक, हिप्स कथा पेट की मांसपेशियों में अच्छे से खींचाव आता है। इस वजह से आपके पाचन में कोई बाधा निर्माण नहीं होती हैं; बल्कि इससे आप का पाचन सुधरता है और पेट पर भी कोई दबाव नहीं आता है। मांसपेशियों में अच्छा खिंचाव आने के कारण मांसपेशियों की एक्सरसाइज होती हैं और मांसपेशियां मजबूत होने में मदद मिलती है।

४) पाचन तंत्र की मजबूती-

जब हम नीचे बैठकर खाना खाते हैं, तो स्वाभाविक है कि मुंह में निवाला डालते समय हम आगे की ओर झुकते हैं और फिर बाद में पीछे होकर नॉर्मल स्थिति में बैठते हैं। इस तरह आगे पीछे करने से हमारी अच्छी एक्सरसाइज होती हैं और पाचन ठीक तरह से होता है। इसी के साथ, जब हम नीचे बैठकर खाना खाते हैं; तो सुखासन में बैठते हैं, जो पाचन तंत्र को बढ़ावा देता है। इसीलिए, नीचे बैठकर खाना खाने से हमारे पेट संबंधित समस्याओं से हमें आराम मिलता है और पाचन तंत्र को मजबूती प्रदान होती है।

५) वजन नियंत्रित करता है-

जब हम नीचे बैठकर खाना खाते हैं, तो हमारे दिमाग को शांति मिलती हैं। दिमाग में शांति होने के कारण हम भोजन करने पर ध्यान केंद्रित करते हैं और हमारी भोजन करने की गति भी धीमी होती हैं। इसके बजाय जब हम डाइनिंग टेबल पर बैठकर खाना खाते हैं; तो हम हड़बड़ी में खाना खाने लगते हैं और पाचन क्रिया ठीक से नहीं हो पाती है, जिससे हमारा वजन बढ़ता है। इसी के साथ, नीचे बैठ कर खाना खाने से हमारे सभी अंगों की कसरत होती है, हम ज्यादा खाना खाने से बचते हैं और हमारा वजन नियंत्रित करने में मदद मिलती है। 

६) एकसंध परिवार-

परिवार की एकता बनाए रखने के लिए आप नीचे बैठकर खाना खाने की पद्धति का अवलंब जरूर करें। जब हम नीचे बैठकर खाना खाते हैं, तो हमारे दिमाग को एक अलग ही संतुष्टि मिलती हैं और मानसिक तनाव दूर रहते हैं; जो परिवार को एक साथ बनाए रखने के लिए बहुत ही जरूरी होता है। नीचे बैठ कर खाना खाने से पूरे परिवार के साथ एक अच्छा वक्त गुजारा जा सकता है।

दोस्तों, अगर नीचे बैठकर खाना खाने से हमें शारीरिक और पारिवारिक लाभ मिल सकते हैं; तो इससे बेहतर और क्या होगा! तो हमारी संस्कृति को बरकरार रखे और नीचे बैठकर खाना खाने से होने वाले फायदों का लाभ उठाएं।

तो दोस्तों, आज के लिए बस इतना ही। उम्मीद है, आपको आज का नीचे बैठकर खाना खाने के फायदे यह ब्लॉग अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

अधिक पढ़ें : दाढ़ी रखना फायदेमंद है या नुकसानदायक

Leave a Comment

error: Content is protected !!