नाखून चबाने के नुकसान और रोकने के उपाय

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? आज हम बात करने वाले हैं नाखून चबाने के नुकसान और रोकने के उपाय, दोस्तों, हम सभी को कुछ ना कुछ आदतें होती हैं। लेकिन, कई बार यह गलत हो सकती है और इनकी वजह से हमारे शरीर को नुकसान पहुंच सकता है। ऐसी ही एक आदत है, नाखून चबाने की। यह आदत अक्सर हम जब छोटे होते हैं तब से हमें लगती है और बड़े होने तक रहती है। अक्सर कुछ काम करते हुए, टीवी देखते हुए या फोन पर बात करते हुए हम हमारे नाखून चबाने लगते हैं। जब हम तनाव या चिंता में होते हैं, तब भी हम नाखून चबाने लगते हैं। कई बार नाखून चबाने की आदत मानसिक अवसाद के लक्षणों में से एक माने जाते हैं। नाखून को चबाना एक ऐसी आदत है, जिसके कारण विभिन्न प्रकार के हो सकते हैं। जैसे; चिंता, तनाव, उदासी, घबराहट, हताशा आदि कारण हो सकते हैं। नाखून चबाने की आदत से हमें काफी नुकसान होते हैं। दोस्तों, आज जानेंगे नाखून चबाने के नुकसान और रोकने के उपाय

नाखून चबाने के नुकसान

छोटे बच्चों से लेकर बड़े लोगों तक नाखून चबाने की आदत हर किसी आयु वर्ग में दिखाई पड़ती है। लेकिन, नाखून चबाना शारीरिक और मुंह के स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक है। इससे कई नुकसान होते है।

१) जॉइंट्स प्रॉब्लम-

कान के पास थर्मो मेंडिबुलार जॉइंट्स होते हैं, जो मुंह खोलने और बंद करने में मदद करते हैं। लेकिन जब हम नाखून चबाते हैं, तो इस ज्वाइंट पर अधिकतर दबाव पड़ता है। इसी कारण, मुंह में संयुक्त सूजन उत्पन्न हो जाती है। इसी सूजन के कारण कान में दर्द, सिर दर्द तथा जबड़े की एलाइनमेंट बिगड़ जाना आदि समस्याएं उत्पन्न हो जाती है।

२) मुंह में बैक्टीरिया बढ़ना-

हमारे हाथ और नाखून जीवाणु, कवक और अन्य जीवाणुओं से भरे होते हैं। जब आप अपने हाथ बिना धोए मुंह में डालते हो और नाखून चबाते हैं, तो इससे मुंह में बैक्टीरिया का संक्रमण होने की संभावना होती है। सालमोनेला और ईकोलाई जैसे बैक्टीरिया आपके नाखूनों में आसानी से मिल जाते हैं।

३) पेट की समस्याएं-

जब हम नाखून चबाते हैं, तब नाखूनों में मौजूद एक जीवाणु हमारे मुंह के अंदर जाते हैं और मुंह से पेट में जाते हैं। इसकी वजह से संक्रमण का खतरा बढ़ता है। इन जीवाणुओं की वजह से हमें पेट संबंधित समस्याए जैसे; दस्त होना, उल्टी होना या पेट में दर्द होना आदि समस्याएं उत्पन्न हो जाती है।

४) तनाव-

जैसे कि हमने देखा, तनाव ग्रस्त लोगों को नाखून चबाने की आदत रहती है। लेकिन, नाखून चबाने के बाद यह तनाव ज्यादा बढ़ सकता है। नाखून चबाना चिंता, तनाव और उदासी के दौरान की जाने वाली सबसे आम प्रक्रिया होती है। अध्ययन के अनुसार, जिन लोगों को कोई परेशानी आ जाती है या वह किसी काम में फंस जाते हैं, तो ऐसे लोग नाखून चबाने लगते हैं; जो एक भावनात्मक स्थिति को दर्शाता है।

५) दांत पिसना-

रिसर्च के मुताबिक, जो लोग नाखून चबाते हैं; उनमें दांत पीसने की समस्या भी उत्पन्न हो जाती हैं। जिन लोगों को नाखून चबाने की आदत होती है, ऐसे लोग चिंता या तनाव के दौरान पेंसिल या पेन चबाने लगते हैं या अपने दांतो को दबाने लगते हैं।

६) त्वचा को क्षति-

नाखून चबाने की आदत नाखून के आसपास की त्वचा, क्यूटिकल्स और नाखूनों की निचली त्वचा को क्षति पहुंचाती है। नाखून चबाने से नाखूनो का बढ़ना रुक जाता है और नाखून छोटे रह जाते हैं।

नाखून चबाने की आदत रोकने के उपाय

नाखून चबाने से होने वाले नुकसान तो हमने देख लिए। अभी हम जानेंगे, कि इस आदत को कैसे रोका जा सकता है।

१) सबसे पहले नाखून चबाने की आदत का मूल कारण का पता लगाएं।

२) जब भी आप चिंता में या तनावग्रस्त हो, तो अपने पास कुछ ऐसी चीज रखें; जिससे आप नाखून चबाने से बच सकते हैं।

३) अपने नाखूनों पर ऐसे नेल पॉलिश लगाए, जिसका स्वाद और गंध कड़वा हो।

४) नाखून बढ़ते ही उनको अच्छे तरीके से काट लें। ताकि, आप नाखून चबाने की आदत से दूर रह सके।

५) अपने नाखूनों पर हो सके तो मनिक्योर करें, क्योंकि जब आपके नाखून सुंदर दिखने लगेंगे तो आप उन्हें नहीं चबाएंगे।

६) जब भी आप टीवी देखते हैं या पुस्तक पढ़ते हैं, तो उस समय अपने नाखूनों पर टेप लगा लें। इससे नाखून चबाने से बचा जा सकता है।

७) अगर आपको नाखून चबाने की कुछ ज्यादा ही आदत हो, तो अपने डॉक्टर से सलाह मशवरा ले।

दोस्तों, जब हमें पता हो कि नाखून चबाने की आदत गलत है और फिर भी हम उसे दोहराते हैं, तो यह गलत बात है। नाखून चबाने से हमारे शरीर को काफी नुकसान पहुंचता है। इसीलिए, इस आदत को छोड़ने की कोशिश करें।

उम्मीद है, आपको आज का नाखून चबाने के नुकसान और रोकने के उपाय यह ब्लॉग अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

अधिक पढ़ें : रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय

Leave a Comment

error: Content is protected !!