मुंह के लार के फायदे की जानकारी और उसका महत्व

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? आज का हमारा विषय है मुंह के लार के फायदे की जानकारी और उसका महत्व,भगवान ने हमारे शरीर को बहुत ही अद्भुत तरीके से बनाया हुआ है। इसमें हर एक अवयव का अपना एक उचित महत्व है। हमारे मुंह में जो लार बनती है, उसको अगर आप बेकार समझ रहे हो; तो आप बहुत बड़ी गलती कर रहे हो। हमारे शरीर को लार के काफी सारे स्वास्थ्यवर्धक लाभ मिलते हैं। खासकर सुबह की लार शरीर के लिए बहुत ही उपयोगी होती है। शरीर में अगर लार की कमी हो जाए, तो हमें कई सारी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है और हमारे मुंह का स्वाद भी बिगड़ जाता है। आयुर्वेद के अनुसार, लार के कई औषधीय गुण होते हैं।

इसी के साथ, लार में १७-१८ तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं; जो आपको संक्रमण से बचाते हैं, आपके पाचन तंत्र को सुधारते हैं, ओरल हाइजीन को मेंटेन करते हैं और ऐसे कई फायदे देखने को मिलते हैं। लार थूकने से शराब तथा धूम्रपान करने से हमारे शरीर से लार कम होती जाती है। तो दोस्तों, आज जानेंगे मुंह की लार के फायदे और महत्व के बारे में।

लार के महत्व की जानकारी-

लार एक रंगहीन खाद्य द्रव है; जो खाना चबाते समय हमारे भोजन के साथ मिल जाता है। लार में डाइजेस्टिव एंजाइम अमायलेस पाए जाते हैं; जो डाइजेशन का काम मुंह में ही शुरु कर देते हैं। लार एक पाचक रस के रूप में काम करता है और हमारे भोजन को पचाने की प्रक्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। मनुष्य में दिन भर में एक से दो लीटर लार का उत्पादन होता है।

शरीर को इतने सारे स्वास्थ्य संबंधित लाभ पहुंचाने वाली लार में कई सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसमें इलेक्ट्रोलाइट्स जैसे सोडियम, पोटैशियम, मैग्निशियम, कैल्शियम, म्यूकिन, यूरिया, अमोनिया पाए जाते हैं। यह सारे तत्व लार को अपना काम उचित रूप से करने में मदद करते हैं।

अध्ययन के अनुसार, कई सारी स्वास्थ्य संबंधित बीमारियों के निदान के लिए भी उपयोगी होती है। आजकल एचआईवी रोग के निदान के लिए डॉक्टर लार के सैंपल उपयोग करने लगे हैं। भविष्य में अन्य बीमारियों के निदान के लिए भी लार का इस्तेमाल करने के लिए अध्ययन जारी है।

लार हमारे मौखिक और पूरे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होती हैं। हमारे शरीर के लिए महत्वपूर्ण लार की अगर कमी हो जाए; तो डॉक्टर या डेंटिस्ट के पास जाकर इस समस्या का हल निकालना जरूरी हो जाता है।

लार के फायदे की जानकारी

लार हमारे शरीर के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होती है; जिससे हमें काफी स्वास्थ्य संबंधित लाभ मिलते हैं।

१) एंटीसेप्टिक-

खासकर सुबह की लार एक बेहतरीन एंटीसेप्टिक के रूप में शरीर को कई सारे स्वास्थ्यवर्धक लाभ देती है। हमारे दांतो की कैविटी को दूर करने के लिए और हानिकारक बैक्टीरिया को नष्ट करने में सुबह की लार बहुत ही कारगर होती है। सामान्य तौर पर, किसी भी स्वस्थ व्यक्ति के मुंह में हर रोज १००० से १२०० मिली लार बनती हैं। सुबह की लार एक एंटीसेप्टिक के रूप में किसी दवा से कम नहीं होती है। मुंह में बनने वाली लार के असंतुलन की वजह से कई लोग बीमारियों के शिकार हो रहे हैं।

२) पेट की सेहत-

हमारे पाचन तंत्र को मजबूती प्रदान करने के लिए लार बहुत ही गुणकारी होती हैं। सुबह उठते ही एक गिलास हल्का गुनगुना पानी पीने से सुबह की लार सीधे पेट में जाती है; जो हमारे पाचन तंत्र को मजबूती प्रदान करती हैं। लार में ऐसे कई डाइजेस्टिव एंजाइम पाए जाते हैं; जो हमारे पाचन क्रिया को बढ़ावा देते हैं और पेट की समस्याओ से भी छुटकारा दिलाते हैं।

३) ओरल हाइजीन-

सांसों की बदबू, दांत संबंधित समस्याओं के लिए लार बहुत ही असरदार साबित होती है। लार के सोडियम, कैल्शियम, पोटेशियम, प्रोटीन, ग्लूकोज जैसे पोषक तत्व दांतो को मजबूत बनाते हैं। इसमें मौजूद एंटीबॉडीज दांतों के ऊपर सुरक्षा कवच की तरह काम करती हैं, दांतों की सुरक्षा करती है और दांतों को सड़न से बचाती है। मुंह में बचे हुए भोजन के कण तथा बैक्टीरिया मुंह में बदबू की समस्या भी पैदा करते हैं। इसी के साथ, मुंह में लार की कमी भी सांसों की बदबू के कारण बनती हैं। अपनी ओरल हाइजीन को मेंटेन करने के लिए शरीर अपने मुंह में लार की कमी ना होने दें और सांसों की बदबू तथा दांतों की सड़न को रोके।

४) त्वचा की देखभाल-

पिंपल्स होने पर सुबह की बांसी लार उन पर लगाने से काफी फर्क देखने को मिलता है। सुबह की बांसी लार मुंहासे, काले दाग धब्बों को हटाने के लिए भी काफी फायदेमंद होती है। एग्जिमा तथा अन्य त्वचा संबंधित समस्याओं के लिए भी लार बहुत ही गुणकारी होती है। यहां तक कि, डायबिटीज के मरीजों के घाव भरने के लिए भी लायक बहुत ही असरदार होती है।

५) आंखो की समस्या-

आंखों की समस्याएं जैसे; आंखों की रोशनी कम होना, आंखें लाल होना, आंखों में जलन होना या आंखों से पानी आना जैसी समस्याओं के लिए भी लार बहुत ही गुणकारी होती है। सुबह की बांसी ला आंखों में काजल की तरह लगाने से आंखों की रोशनी बढ़ाने में काफी मदद मिलती है। आंखों के आसपास होने वाले डार्क सर्कल्स के ऊपर सुबह की बांसी लार से हल्की सी मालिश की जाए; तो डार्क सर्कल्स कम होने में मदद मिलती है।

तो दोस्तों, आज के लिए बस इतना ही, उम्मीद है, आपको आज का मुंह के लार के फायदे की जानकारी और उसका महत्व यह ब्लॉग अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

अधिक पढ़ें : गर्भपात के बाद कमजोरी कैसे दूर करें

Leave a Comment

error: Content is protected !!