मॉर्निंग वॉक के फायदे और नुकसान

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? आज का हमारा विषय है मॉर्निंग वॉक के फायदे और नुकसान, दोस्तों, बड़े बुजुर्ग लोग आज भी हमें यही सलाह देते हुए नजर आते हैं; कि हमें व्यायाम करना चाहिए। जिससे हमारी सेहत अच्छी बनी रहती हैं। लेकिन, हम बहुत आलसी हो गए हैं। रात को देर से सोते हैं, सुबह देर से उठते हैं और काम पर जल्दी जाने की जल्दी होती हैं। ऐसे में व्यायाम, मॉर्निंग वॉक, योग, प्राणायाम करने के लिए हमें टाइम ही नहीं मिलता है। लेकिन, इस बदली हुई जीवन शैली के साथ हमें कई सारे रोगों का भी सामना करना पड़ता है। बदली हुई जीवन शैली के साथ-साथ, हमारे खानपान की पद्धति में काफी बदलाव आ गया है।

हम पिज़्ज़ा, बर्गर, कोल्ड ड्रिंक आदि पदार्थों का सेवन ज्यादा करने लगे हैं। जिससे हमारी सेहत पर काफी बुरा असर पड़ता है। हमारा कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है, बीपी की बीमारी हमें जल्दी कम उम्र में लग जाती है और इसी के साथ, डायबिटीज की समस्या भी उत्पन्न हो जाती हैं। इन सभी समस्याओं को खत्म करने के लिए आप रोज सुबह मॉर्निंग वॉक जरूर करें। यह काफी सस्ता, आसान और सरल उपाय हैं। तो दोस्तों, आज जानते हैं मॉर्निंग वॉक के फायदे और नुकसान

मॉर्निंग वॉक के फायदे

मॉर्निंग वॉक करने के काफी फायदे देखने को मिलते हैं। हम सभी फायदे आज विस्तार से जानने वाले हैं।

१) कोलेस्टेरॉल-

अगर आपको अपना कोलेस्ट्रोल नियंत्रित रखना है, तो मॉर्निंग वॉक जरूर करना चाहिए। सुबह सुबह मॉर्निंग वॉक करने से हमारे शरीर में कुछ अच्छे बदलाव होते हैं, जो कोलेस्टेरॉल की लेवल को नियंत्रित रखते हैं। जिन लोगों का कोलेस्ट्रोल बढ़ा हुआ होता है, उनके लिए भी मॉर्निंग वॉक एक अच्छा विकल्प साबित होता है।

२) स्ट्रेस-

आजकल बहुत सारे लोग तनाव का शिकार होते हुए दिख रहै है। स्ट्रेस की वजह से हमारे शरीर पर काफी बुरा असर पड़ता है और हम काफी विकारों का सामना करते हैं। इस तनाव की लेवल को कम करने के लिए सुबह सुबह मॉर्निंग वॉक एक अच्छा विकल्प होता है। सुबह-सुबह वातावरण में ऑक्सीजन की मात्रा भी ज्यादा होती हैं, जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही उपयुक्त होता है। सुबह मॉर्निंग वॉक करने के बाद तरोताजा महसूस होता है और तनाव काफी हद तक कंट्रोल में आ सकता है। 

३) दिमागी कार्य क्षमता-

अध्ययन के अनुसार, सुबह सुबह मॉर्निंग वॉक करने से दिमाग की कार्य क्षमता बढ़ने में काफी मदद मिलती है। मॉर्निंग वॉक करने से डिमेंशिया याने भूलने की बीमारी में ४०-५०% तक गिरावट आती है। मॉर्निंग वॉक करने के बाद मस्तिष्क को तरोताजा महसूस होता है और दिमागी कार्य सुचारू रूप से होते हैं। 

४) मधुमेह-

भारत की बहुत सारी आबादी आज डायबिटीज की बीमारी से लड़ रही हैं। भारत में बहुत ही कम आयु में लोग डायबिटीज का शिकार होते हुए दिख रहे हैं। बदली हुई जीवनशैली और खान-पान की पद्धति की वजह से लोग डायबिटीज का शिकार हो जाते हैं। सुबह सुबह मॉर्निंग वॉक करने से डायबिटीज का खतरा काफी हद तक कम किया जा सकता है। इसी के साथ, जो डायबिटीज के मरीज हैं; उनके लिए भी मॉर्निंग बहुत एक अच्छा विकल्प साबित होता है।

५) फेफड़ों की मजबूती-

अपने फेफड़ों को मजबूत और स्वस्थ रखने के लिए मॉर्निंग वॉक एक बेहतरीन विकल्प होता है। सुबह सुबह जब हम मॉर्निंग वॉक करते हैं, तब जोर-जोर से सांस लेते हैं। इसकी वजह से हमारे फेफड़ों में अतिरिक्त मात्रा में ऑक्सीजन जाता है और उन्हें स्वस्थ बनाता है। फेफड़ों में उचित मात्रा में ऑक्सीजन होने की वजह से फेफड़े स्वस्थ बने रहते हैं और किसी भी संक्रमण से बचते हैं।

६) एनर्जी-

सुबह सुबह मॉर्निंग वॉक करने से हमारा पूरा ही दिन एनर्जी से भरा हुआ होता है। सुबह सुबह जब हम मॉर्निंग वॉक करते हैं, तो सुबह का ऑक्सीजन हमारे शरीर को मिलता है; जो हमारे शरीर को स्वस्थ बनाता है तथा हमारे मन को शांत रखता है। मॉर्निंग वॉक करने से स्ट्रेस लेवल भी काफी हद तक नियंत्रित रहती हैं; जिससे हम एनर्जेटिक महसूस करते हैं।

७) वजन घटाना-

ओबेसिटी के कारण लोग काफी परेशान दिखते हैं। वजन बढ़ जाने के कारण कई सारे विकारों को भी आमंत्रण मिलता है। वजन घटाने के लिए मॉर्निंग वॉक बहुत ही उपयुक्त साबित होता है। मॉर्निंग वॉक करने से हमारा कोलेस्ट्रॉल लेवल कम होता है, जिससे हमारा वजन घटने में काफी मदद मिलती है।

८) हेल्थी हार्ट-

मॉर्निंग वॉक करने से हमारा हृदय स्वस्थ बना रहता है। ह्रदय की कार्यप्रणाली ठीक से काम करने के लिए वॉक बहुत ही अच्छा विकल्प होता है। दिल से जुड़े किसी भी बीमारी को दूर रखने के लिए मॉर्निंग वॉक बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। मॉर्निंग वॉक करने से हार्ट हेल्दी रहता है और बीमारियों से लड़ने में सक्षम होता है।

९) कैंसर-

अध्ययन के अनुसार यह पाया गया है, कि मॉर्निंग वॉक करने से कैंसर का खतरा कम किया जा सकता है। सुबह-सुबह वातावरण में ऑक्सीजन की मात्रा अधिक रहती है और प्रदूषण भी कम रहता है। उचित मात्रा में ऑक्सीजन मिलने से हमारे शरीर की कार्यप्रणाली ठीक से काम करती है और इम्यूनिटी को भी बढ़ावा मिलता है। इम्यूनिटी बढ़ने से कैंसर का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है। मॉर्निंग वॉक किसी भी प्रकार के कैंसर का इलाज नहीं हो सकता। लेकिन, कैंसर के खतरे को कम करने के लिए मॉर्निंग वॉक एक अच्छा विकल्प साबित होता हुआ दिख रहा है।

मॉर्निंग वॉक के नुकसान-

दोस्तों, सुनने में काफी अजीब लगेगा; लेकिन मॉर्निंग वॉक करने से कुछ लोगों को नुकसान भी होते हैं।

१) कुछ लोगों को सुबह जल्दी उठकर वॉक करने के कारण दोपहर में काम करते वक्त नींद आ सकती हैं।

२) जिन लोगों को सुबह देर से उठने की आदत होती है, ऐसे लोगों के लिए मॉर्निंग वॉक एक परेशानी साबित होती है। ऐसे लोग शाम को वह कर सकते हैं।

३) वॉक करते समय हमेशा ही एकाग्र होना चाहिए। ऐसा नहीं कि आप वॉक कर रहे हो और आपका पूरा ही ध्यान मोबाइल पर लगा है। तो ऐसे में वॉक करने के फायदे देखने को नहीं मिलते हैं।

 दोस्तों, आज के लिए बस इतना ही। उम्मीद है, आपको आज का मॉर्निंग वॉक के फायदे और नुकसान यह ब्लॉग अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

अधिक पढ़ें : हंसना सेहत के लिए क्यों है जरूरी

Leave a Comment

error: Content is protected !!