खाली पेट मुली खाने के फायदे और नुकसान

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? आज का हमारा विषय है खाली पेट मुली खाने के फायदे और नुकसान, सेहत भरी जिंदगी जीने के लिए लोग आजकल काफी सतर्क रहने लगे हैं। खाने-पीने के पद्धति में बदलाव आने की वजह से लोगों को इसका काफी नुकसान उठाना पड़ता है। इसीलिए, लोग हेल्थी लाइफस्टाइल की तरफ बढ़ रहे हैं। सेहतमंद रहने के लिए हम अलग-अलग तरह के जूस, सलाद और स्वास्थ्य से भरी चीजों का सेवन करते हैं। सलाद खाने से शरीर को काफी फायदे मिलते हैं। सलाद खाने से शरीर को उचित पोषण मिलता है और उसी के साथ शरीर का अतिरिक्त फैट्स कम होकर वजन घटता है। सलाद बनाने के लिए कई सारी सब्जियों का इस्तेमाल किया जाता है।

उसमें से एक शब्द है मूली। मूली खाने से शरीर को काफी सारे फायदे मिलते हैं। उचित मात्रा में मूली खाने से शरीर को स्वास्थ्य के लाभ मिलते हैं और अतिरिक्त मात्रा में खाने से शरीर को काफी नुकसान भी उठाने पड़ सकते हैं। दोस्तों, आज जानेंगे खाली पेट मुली खाने के फायदे और नुकसान के बारे में।

खाली पेट मुली खाने के फायदे

मूली में विटामिन सी, कैल्शियम, आयरन, फोलिक एसिड, फाइबर, प्रोटीन, पोटैशियम, मैग्निशियम आदि पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसी के साथ, मूली में एंटीबैक्टीरियल और एंटीऑक्सीडेंट के तत्व भी पाए जाते हैं। ध्यान रहे, कि मूली का सेवन करने से कई बीमारियों के लक्षणों में कमी देखी जा सकती है। लेकिन, मूली का सेवन किसी भी बीमारी का इलाज नहीं होता है।

१) मधुमेह-

डायबिटीज के रोगियों के लिए मूली का सेवन काफी फायदेमंद होता है। मूली में एंटी डायबिटिक तत्व पाए जाते हैं; जिससे ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में होते हैं। इसके सेवन से फ्री रेडिकल्स से बचाव करने में और मेटाबॉलिज्म को बेहतर करने में मदद मिलती है। मूली में विटामिन सी होता है, जो इंसुलिन पर प्रभावी रूप से काम करता है। मधुमेह के रोगियों के लिए सिर्फ मुली ही नहीं, बल्कि मूली के पत्ते और मूली के बीज खाना भी काफी गुणकारी होता है।

२) वजन घटाना-

अध्ययन के अनुसार, अतिरिक्त फाइबर युक्त पदार्थ खाने से हमारे पाचन तंत्र मजबूत होता है और हमारा वजन नियंत्रित रहता है। इस हिसाब से, मूली का सेवन वजन घटाने के लिए किया जा सकता है। मूली में फाइबर उचित मात्रा में होता है, जिसको खाने से हमारा पाचन तंत्र मजबूत होता है और हमारा वजन घटाने में मदद मिलती है। इसी के साथ मूली में कैलोरीज़ कम मात्रा में होती हैं; जिसका सेवन करने से शरीर को पूरा पोषण मिलता है और कैलरी की मात्रा भी कम मिलती है। इसलिए, अगर आप वजन घटाना चाहते हैं, तो मूली का सेवन कर सकते हैं।

३) हेल्थी हार्ट-

ह्रदय हमारे शरीर का बहुत ही महत्वपूर्ण अंग होता है। अगर हृदय स्वस्थ हो, तो हम एक सेहत भरी जिंदगी जी सकते हैं। ह्रदय को स्वस्थ और सेहतमंद रखने के लिए मूली का सेवन करना फायदेमंद होता है। मूली में फाइबर होता है, जो हृदय को स्वस्थ रखने में मदद करता है। मुली में मौजूद नाइट्रेट हृदय की धमनियों में प्लाक के जमने से रोकता है; जिससे हार्टअटैक की रिस्क को कम किया जा सकता है।

४) किडनी स्टोन-

अध्ययन के अनुसार, कैल्शियम ऑक्सलेट की वजह से किडनी में स्टोन की समस्या उत्पन्न होती है। मूली का सेवन करने से इस कैल्शियम ऑक्सलेट को शरीर से बाहर निकाला जा सकता है। किडनी स्टोन की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप मूली का सेवन जरूर करें।

५) लीवर-

पत्तेदार सब्जियां जिसमें मूली भी शामिल होती हैं, इनका सेवन करने से लीवर सेहतमंद रहता है और लीवर से टॉक्सिंस बाहर निकाले जा सकते हैं। लिवर को डिटॉक्सिफाई करने के लिए खाली पेट मूली का सेवन जरूर करना चाहिए। इसी के साथ, मूली का सेवन जौंडिस के घरेलू इलाज के रूप में भी किया जाता है। मूली का सेवन लीवर के कैंसर के खतरे को भी काफी हद तक कम करता है।

६) कब्ज-

अगर, रोज थोड़ी मूली का सेवन किया जाए, तो उससे हमें फाइबर के लाभ मिलते हैं। फाइबर की वजह से हमें कब्ज की समस्या से राहत मिलती है। फाइबर आंतों को स्वस्थ रखने में सहायक होता है। फाइबर युक्त पदार्थ खाने से मल त्याग के दौरान परेशानी नहीं होती है। इसीलिए, कब्ज की समस्या से छुटकारा पाने के लिए मूली का सेवन करें।

७) पाचन तंत्र-

पाचन तंत्र को मजबूती मिलने के लिए खाली पेट मूली का सेवन करना चाहिए। सीमित मात्रा में मूली का सेवन पेट की समस्याओ पर काफी फायदेमंद होता है। बुजुर्ग लोग आज भी मूली का सेवन करते हैं, जिससे उन्हें पेट संबंधित समस्याए जैसे; गैस, कब्ज, अपच यह समस्याए कम देखने को मिलती हैं।

८) पीलिया-

पीलिया होने के बाद मरीज को मूली के पत्तों का साग जरूर खिलाना चाहिए। मूली के पत्ते या मूली का सेवन करने से पीलिया को काफी हद तक कम किया जा सकता है। मूली में मौजूद पोषक तत्व पीलिया के लक्षणों पर काफी प्रभावी होते हैं। 

खाली पेट मूली खाने के नुकसान

खाली पेट मुली का सेवन कभी कभी नुकसान पहुंचा सकता है।

१) काले चने के साथ मूली का सेवन करने से बचें।

२) मछली के साथ मूली का सेवन नहीं करना चाहिए, इसका शरीर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

३) मूली में हाइपो ग्लाइसेमिक तत्व मौजूद होते हैं, जो डायबिटीज के मरीजों में रक्त शर्करा काफी हद तक कम कर सकते हैं। इसीलिए बेहतर है, कि डायबिटीज के मरीज मूली का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

४) मूली में लेक्सेटिव गुण होते हैं, इसीलिए मूली का अधिक मात्रा में सेवन पेट संबंधित समस्याएं उत्पन्न करता है। जिनका पेट सेंसेटिव होता है, उन्हें मूली काम खाना चाहिए।

५) दूध पीने के बाद तुरंत मूली का सेवन ना करें।

किन पदार्थों के साथ मूली का सेवन वर्जित है

 दोस्तों, ऐसे कई पदार्थ हैं जिनका मूली के साथ सेवन वर्जित है। मूली के साथ कुछ वर्जित पदार्थों का सेवन करने से हमें स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं उत्पन्न होती हैं। इसलिए, अभी हम देखते हैं कि मूली के साथ किन पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए।

१) खीरा- 

सलाद के सब्जियों में से सबसे अहम सब्जी है, खीरा। उसके बिना हम सलाद को सोच ही नहीं सकते। लेकिन, क्या आप जानते हैं; कि खीरा और मूली साथ में खाने से स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं उत्पन्न होती हैं! जी हां! खीरे में एस्कॉर्बिनोज होता है, जो विटामिन सी को अवशोषित करने का काम करता है। इसीलिए, खीरे और मूली का कॉम्बिनेशन खाने से बचें।

२) संतरा-

संतरा और मूली का साथ में सेवन आपके शरीर के लिए जहर की तरह माना गया है। इसका कॉन्बिनेशन खाने से आपके पेट में गड़बड़ी हो कर पाचन संबंधित समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। इससे आपका पाचन तंत्र पूरी तरह से खराब हो जाता हैं। इसीलिए, संतरा खाने के बाद लगभग ८-९ घंटे तक मूली का सेवन ना करें।

३) करेला-

अगर आपने खाने में करेले की सब्जी खाई है, तो उसके साथ मूली का सेवन बिल्कुल ना करें। करेले के साथ मूली का सेवन वर्जित है। इन दोनों को साथ में खाने से सांस संबंधित समस्याएं उत्पन्न होती हैं। इन दोनों चीजों की प्रकृति साथ में मेल नहीं खाती। इसीलिए, इनको खाने से शरीर में रिएक्शन होता है। करेले का सेवन करने के लगभग एक दिन तक मूली का सेवन नहीं करना चाहिए।

४) दूध-

खाने में अगर करेला खाया हो, तो उसके बाद दूध का सेवन नहीं करना चाहिए। इन दोनों के सेवन में कम से कम ५-६ घंटों का अंतर जरूर होना चाहिए। मूली और दूध का कॉन्बिनेशन शरीर में रिएक्शन पैदा करता है और उससे पेट संबंधित समस्या उत्पन्न हो जाती है। इसी के साथ, इस कॉम्बिनेशन को खाने से त्वचा संबंधित विकार भी उत्पन्न हो जाते हैं। इसीलिए, दूध और मूली का साथ में सेवन करने से बचें।

दोस्तों, आज के लिए बस इतना ही। उम्मीद है, आपको आज का खाली पेट मुली खाने के फायदे और नुकसान यह ब्लॉग अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

अधिक पढ़ें : पेट के बल सोने के फायदे और नुकसान

Leave a Comment

error: Content is protected !!