रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? आज हम बात करने वाले हैं रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय, हमारे शरीर की कार्यप्रणाली सुचारू रूप से काम करने के लिए स्ट्रांग इम्यूनिटी बहुत ही महत्वपूर्ण रोल निभाती हैं। अगर हमारी रोग प्रतिकारक क्षमता कमजोर हो, तो हम किसी भी संक्रमण को आसानी से ससेप्टिबल हो जाते हैं। इम्युनिटी का कमजोर होना चिंता का विषय माना जाता है। पूरे ही विश्व को कोविड़ काल के दौरान इम्यूनिटी का महत्व समझ में आया है। उससे पहले हम कमजोर इम्यूनिटी के चलते बहुत सारे लोगों का शिकार हो जाते थे और हमें पता भी नहीं चलता था। लेकिन, कोविड-19 की महामारी के बाद बहुत सारे लोग इम्युनिटी को महत्व देने लगे हैं और इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए तरह-तरह के इलाज, नुस्खे अपनाने लगे हैं। तो दोस्तों, जैसा कि हमने देखा कि कमजोरी इम्युनिटी के चलते हम किसी भी बीमारी का शिकार हो सकते हैं। इसीलिए, हमारी इम्यूनिटी स्ट्रांग होना बहुत ही जरूरी होता है। तो दोस्तों, आज जानेंगे रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय

रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय

दोस्तों, हमारे भारत देश का आयुर्वेदिक शास्त्र बहुत पुराने सालों से मानव जाति के कल्याण हेतु अनुसंधान करते आ रहा है। आयुर्वेद में हर एक बीमारी के लिए औषधि बताई गई है। आयुर्वेद में इस्तेमाल किए जाने वाली जड़ी बूटियां अपने आप में नायाब औषधि के रूप में सामने आती है। इन जड़ी बूटियों का इस्तेमाल करने से हमारे रोगप्रतिकारक क्षमता को भी बढ़ाया जा सकता है। तो आइए दोस्तों, जानते हैं रोग प्रतिकारक क्षमता बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय।

१) तुलसी-

आयुर्वेद में तुलसी को सर्वोपरि स्थान मिला है। क्योंकि, तुलसी लगभग हर एक समस्या के लिए कारगर साबित होती आ रही हैं। तुलसी में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट के तत्व पाए जाते हैं; जो हमारे शरीर की इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण रोल निभाते हैं। तुलसी का सेवन रोजाना तौर पर करने से हमारे रोगप्रतिकारक शक्ति बढ़ती है और हम रोगों से कोसों दूर रह सकते हैं। तुलसी का सेवन आप किसी भी रूप में कर सकते हैं। आप तुलसी का काढ़ा बना सकते हैं या रोजाना चाय में तुलसी के पत्ते डालकर उस चाय को पी सकते हैं। तुलसी के पत्ते चबा चबाकर खाने से भी बहुत लाभ मिलते हैं।

२) गिलोय-

गिलोय में एंटीऑक्सीडेंट्स तथा कैंसर विरोधी तत्व पाए जाते हैं। गिलोय का सेवन बड़ी से बड़ी बीमारी को रोक सकता है। इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए भी गिलोय का जूस पी सकते हैं। गिलोय में पोषक तत्व अधिक मात्रा में होने के कारण शरीर को इसके काफी लाभ मिलते हैं। गिलोय का काढ़ा बाजारों में आसानी से उपलब्ध होता है, उसे आप रोजाना सुबह खाली पेट ले सकते हैं। 

३) प्रोबायोटिक्स-

प्रोबायोटिक्स का सेवन बहुत ही लाभकारी माना गया है। दही, छांस एक नेचुरल प्रोबायोटिक के रूप में खाया जाता है। प्रोबायोटिक्स वैसे तो एक बैक्टीरिया होते हैं, जो हमारे स्वास्थ्य को बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। रोजाना प्रोबायोटिक्स का सेवन करने से हमारी इम्यूनिटी बढ़ती है और स्वस्थ शरीर का लाभ मिलता है। दही, छाछ के साथ बाजारों में प्रोबायोटिक्स के कई प्रोडक्ट उपलब्ध है; जिनको आप खा सकते हैं। दरअसल, प्रोबायोटिक्स का सेवन हमारे डाइजेस्टिव सिस्टम को मजबूत करने में सक्षम होता है।

४) नींबू-

नींबू में विटामिन सी की मात्रा पाई जाती हैं और विटामिन सी हमारे शरीर को मजबूती प्रदान करता है। रोज सुबह खाली पेट नींबू का जूस गुनगुने पानी में मिलाकर पीने से इम्यूनिटी को बढ़ावा मिलता है और हम रोगों से दूर रहते हैं। इम्युनिटी को बढ़ाने के साथ-साथ ही नींबू का सेवन पाचन तंत्र को भी मजबूती प्रदान करता है।

५) एप्पल साइडर विनेगर-

एक कटोरी में सेब का सिरका ले और उसमें लहसुन की दो से तीन कलियां  १-२ घंटे तक भीगने दें। उसके बाद सेब के सिरके का सेवन करें। सेब के सिरके का सेवन हमारे शरीर को मजबूती प्रदान करता है और हमारे रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ाता है। हफ्ते में कम से कम दो बार सेब के सिरके का सेवन करना चाहिए।

६) ग्रीन टी-

ग्रीन टी का सेवन कम मेहनत और समय में ज्यादा लाभ देने वाला साबित होता है। ग्रीन टी आसानी से आपको बाजार में मिल जाती हैं और रोजाना दिन में कम से कम एक बार ग्रीन टी का सेवन जरूर करना चाहिए। ग्रीन टी फ्री रेडिकल्स को खत्म कर देती है और शरीर से सारे टॉक्सिंस बाहर निकाल देती हैं। ग्रीन टी का सेवन शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने के लिए बहुत ही गुणकारी होता है। 

७) विटामिन सी-

शरीर की रोग प्रतिकारक शक्ति को बढ़ाने के लिए विटामिन सी युक्त पदार्थों का सेवन आवश्यक होता है। विटामिन सी एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है और शरीर को मजबूती प्रदान करता है। विटामिन सी युक्त पदार्थों का सेवन करने से हमारी इम्यूनिटी बहुत ही मजबूत होती है और हम रोगों से दूर रहते हैं।

८) पर्याप्त नींद-

खाने की चीजों के साथ साथ ही पर्याप्त मात्रा में नींद लेना इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए बहुत ही जरूरी होता है। चाहे आप कितना भी काम कर ले, अगर आप पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं; तो आपकी तबीयत बिगड़ सकती है और शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली पर भी उसका असर पड़ता है। अपने शरीर की इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए और बरकरार रखने के लिए दिन में कम से कम ७-८ घंटे की नींद जरूरी होती है।

९) संतुलित आहार-

इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए आपका आहार संतुलित होना चाहिए। आपके आहार में हर प्रकार की सब्जी, दा, रोटी, स्प्राउट्स आदि का समावेश जरूर होना चाहिए। अगर आप मांसाहार करते हैं, तो उचित मात्रा में मांसाहार लेने से भी शरीर को मजबूती प्रदान होती हैं। आपके आहार में हरी पत्तेदार सब्जियां, दाल, चावल, अलग-अलग प्रकार के अनाजों की रोटियां, स्प्राउट्स, दही, छांछ, पनीर का समावेश होना चाहिए। इसी के साथ; फल, फलों के जूस, सब्जियों के सूप इनका सेवन करने से भी इम्यूनिटी बढ़ाने में काफी मदद मिलती है। 

१०) योग प्राणायाम-

शरीर को मजबूती प्रदान करने के लिए योग तथा प्राणायाम का योगदान काफी महत्वपूर्ण होता है। योग, प्राणायाम, एक्सरसाइज करने से हमारे शरीर में ब्लड सरकुलेशन सुचारू रूप से होता है और हम काफी कम बीमार पड़ते हैं। शरीर को ऑक्सीजन की मात्रा उचित मात्रा में मिलने से शरीर का हर एक अवयव उचित रूप से काम करता है। योग तथा प्राणायाम करने से शरीर की इम्युनिटी बढ़ती है।

११) छोड़े गलत आदतें-

अगर आपको ताउम्र सेहतमंद रहना है; तो शराब, धूम्रपान और तंबाकू के पदार्थों का सेवन आदि गलत और नशीली चीजों से आपको दूर रहना होगा। धूम्रपान और शराब पीने से शरीर को काफी नुकसान होता है तथा शरीर बहुत सारे रोगों का सामना करता है। धूम्रपान और शराब सीधे हमारे फेफड़ों पर असर करता है और हमारे फेफड़ों को कमजोर कर देता है। जिसकी वजह से हमारे शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा कम होती जाती है और हम कमजोर होते जाते हैं। 

दोस्तों, रोगप्रतिकारक शक्ति बढ़ाने के लिए हमने जो आपको कुछ उपाय बताए हैं; उनका पालन जरूर करें और अपना आहार संतुलित रखें। आहार के साथ साथ ही योग तथा प्राणायाम को अपने जीवन का अभिन्न अंग बनाएं और नशीली चीजों से दूर रहें। कुछ अच्छी आदतें पालने से अगर हम स्वस्थ रहते हैं; तो इसे अच्छी बात कौन सी हो सकती हैं! 

उम्मीद है, दोस्तों आपको आज का रोग प्रतिकरक शक्ति बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय यह ब्लॉग अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

अधिक पढ़ें :खुजली के लिए सबसे अच्छा साबुन कौनसा है ?

Leave a Comment

error: Content is protected !!