फंगल इंफेक्शन निशान कैसे हटाएं ?

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? दोस्तों,आज का हमारा विषय है, त्वचा फंगल इंफेक्शन निशान कैसे हटाएं,आज के दिनों में फंगल इन्फेक्शन होना काफी आम बात हो गई है। बदलते मौसम और जीवनशैली की वजह से लोगों को कई बीमारियों का सामना करना पड़ता है। इसी में से एक समस्या है फंगल इंफेक्शन। वैसे तो, फंगल इनफेक्शन एक बहुत ही आम समस्या है और वह अपने आप भी ठीक हो सकते हैं। लेकिन अगर इस पर वक्त पर इलाज ना किया जाए; तो यह गंभीर रूप धारण कर सकती हैं। अध्ययन के अनुसार, फंगस की कई प्रजातियां होती है; उनमें से लगभग २५०-३०० फंगस के कारण मानव जाति में संक्रमण होता है।

फंगल इंफेक्शन होने के बाद त्वचा पर लाल चकत्ते पड़ जाते हैं, दाद, खाज, खुजली होती है तथा रेडनेस, रैशेज की समस्या भी हो जाती है। फंगल इंफेक्शन का इलाज किया जाए, तो २-४ हफ्तों में वह ठीक हो जाता है। लेकिन, फंगल इंफेक्शन की वजह से शरीर पर काफी निशान पड़ जाते हैं; जो काफी भद्दे और गंदे दिखते हैं। कभी-कभी यहां निशान ऐसी जगह पर होते हैं, जिनको आप छुपा नहीं सकते। इसलिए, दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं फंगल इनफेक्शन वजह से हुए निशानों को घरेलू नुस्खों से कैसे हटाया जाए।

फंगल इंफेक्शन के कारण

फंगल इंफेक्शन के कई कारण होते हैं।

१) ज्यादातर गर्म तथा नमी वाले वातावरण में रहने से फंगल इंफेक्शन हो जाता है।

२) फंगल इंफेक्शन से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से फंगल इंफेक्शन हो सकता है।

३) कमजोर इम्यूनिटी भी फंगल इन्फेक्शन का कारण बनती है।

४) अधिक वजन और मोटापा भी फंगल इन्फेक्शन का कारण बन सकते है। क्योंकि, ज्यादातर चर्बी होने की वजह से जांघों में लगातार अतिरिक्त रगड़ होती रहती है और इस रगड़ से रैशेज हो जाते हैं। इस वजह से फंगल इंफेक्शन होता है।

५) फंगल इंफेक्शन का पारिवारिक इतिहास की इसका कारण बन सकता है।

६) बारिश के मौसम में वातावरण में नमी सदा बनी रहती है। ऐसा वातावरण फंगस की ग्रोथ को बढ़ाता है। अगर हमने हमारे शरीर की अच्छे से स्वच्छता नहीं की, तो शरीर पर फंगस ग्रो हो जाती है। पैरों की उंगलिया, उंगलियों के बीच वाली जगह, कमर का निचला हिस्सा, जांघें आदि शरीर के नजरअंदाज किए जाने वाले अंग होते हैं। इनकी स्वच्छता की तरफ हम ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं और फंगस ऐसे ही जगह पर अटैक करता है और हमें फंगल इन्फेक्शन होने की संभावना होती है।

७) महिलाओं में पीरियड्स के दौरान पैड का इस्तेमाल करने से जांघों में रगड़ निर्माण होती है और उससे फंगल इंफेक्शन होने का खतरा होता है।

फंगल इंफेक्शन के लक्षण

फंगल इंफेक्शन होने से त्वचा पर लाल चकत्ते पड़ जाते हैं। रेडनेस, रैशेज और त्वचा में रेड पैचेज हो जाते हैं। इसी के साथ, फंगल इंफेक्शन से संक्रमित जगहों पर खुजली होती रहती है और दाद बन जाता है। फंगल इंफेक्शन से संक्रमित जगह पर ड्राइनेस आ जाती है और उस वजह से त्वचा पर दरारें पड़ती है। ड्राइनेस की वजह से त्वचा में पपड़ी जम जाती है और खाल निकलने लगती है। फंगल इन्फेक्शन के लक्षण तुरंत ही दिखने शुरू हो जाते हैं। इसीलिए, इन लक्षणों को पहचाने और तुरंत घरेलू नुस्खे आजमाएं या डॉक्टर की सलाह ले।

फंगल इंफेक्शन के निशान हटाने के घरेलू नुस्खे

फंगल इंफेक्शन होने के बाद शरीर पर उसके निशान रह जाते हैं। यह निशान दिखने में काफी अजीब लगते है। फंगल इंफेक्शन के निशानों को मिटाने के लिए आप कुछ घरेलू नुस्खों को आजमा कर देख सकते हैं।

१) ओरेगेनो तेल-

अन्य तेलो के मुकाबले ऑरेगैनो ऑयल में अधिक मात्रा में एंटीफंगल तत्व पाए जाते हैं। इसलिए, फंगल इंफेक्शन के निशान मिटाने के लिए आप ऑरेगैनो ऑयल की कुछ बूंदे नारियल के तेल में या जैतून के तेल में मिलाकर प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। इससे आप के दाग मिटने में मदद मिलती ही है; साथ ही साथ त्वचा पर भी यह काफी प्रभावी होता है। इस तेल का उपयोग करने से प्रभावित त्वचा में नमी बनी रहती है और दांग भरने में मदद मिलती है।

२) विटामिन ई-

बादाम तेल, गेहूं का तेल, अवेकैडों ऑयल या सन फ्लॉवर ऑयल विटामिन ई का अच्छा स्त्रोत माने जाते हैं। अध्ययन के अनुसार, विटामिन ई निशान तथा दागों पर काफी प्रभावी होता है। इसीलिए, विटामिन ई युक्त क्रीम या तेल लगाने से फंगल इंफेक्शन के निशान मिटने में काफी मदद मिलती है। फंगल इंफेक्शन के निशान मिटाने के लिए विटामिन ई का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर के उचित सलाह जरूर लें।

३) एलोवेरा-

एलोवेरा में एंटीबैक्टीरियल तथा एंटीफंगल तत्व पाए जाते हैं। फंगल इंफेक्शन की वजह से त्वचा पर होने वाली खुजली और जलन को कम करने में एलोवेरा काफी फायदेमंद होता है। इसी के साथ, एलोवेरा त्वचा के लिए भी बहुत प्रभावी होता है। फंगल इंफेक्शन के निशान मिटाने के लिए एलोवेरा का पल्प या जेल इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए प्रभावित हिस्से को अच्छे से पानी से साफ कर लें और सुखा लें। उसके बाद एलोवेरा पल्प उस पर लगा लें। इससे त्वचा पर हुए निशान को मिटाने में काफी मदद मिलती है, त्वचा की रंगत बढ़ती है तथा खुजली भी कम हो जाती हैं।

४) सेब का सिरका-

एक कटोरी में सेब का सिरका ले और कॉटन कि मदद से त्वचा के प्रभावित हिस्से पर लगाएं। इससे फंगल इंफेक्शन की वजह से हुए दाग कम होने में काफी मदद मिलती है। सेब का सिरका फंगल इन्फेक्शन को मिटाने के लिए वैज्ञानिक रूप से काफी प्रभावी साबित हुआ है। सेब का सिरका फंगल इंफेक्शन के विकास को भी रोकता है। सेब के सिरके में एंटी फंगल तत्व पाए जाते हैं; जो फंगल इन्फेक्शन में काफी असरदार साबित होते हैं।

५) हल्दी-

त्वचा की समस्याओं के लिए हल्दी हमेशा ही कारगर साबित हुई है। फंगल इंफेक्शन की वजह से हुए निशानों को मिटाने के लिए चुटकी भर हल्दी में नारियल का तेल मिलाकर प्रभावित हिस्से पर लगा ले। बाद में पानी से साफ धो ले। हल्दी में एंटीसेप्टिक, एंड बैक्टीरियल और एंटी फंगल तत्व पाए जाते हैं; जो त्वचा पर हुए फंगल इन्फेक्शन को मिटाने के लिए काफी प्रभावी होते हैं। इसीलिए, फंगल इंफेक्शन के दागों को हटाने के लिए हल्दी का प्रयोग करें और अपनी त्वचा की रंगत निखारे।

६) नीम-

त्वचा संबंधित समस्याओं के लिए नीम पुराने जमाने से इस्तेमाल करते आ रहे हैं। फंगल इंफेक्शन की वजह से हुए निशानों को मिटाने के लिए आप नीम का इस्तेमाल कर सकते हैं। नीम की १०-२० पत्तियां ले और उनको अच्छे से पीसकर उनका पेस्ट बना ले। इस पेस्ट को प्रभावित हिस्से पर लगा लें और लगभग १५ मिनट बाद पानी से धो लें। इससे फंगल इंफेक्शन के निशान धीरे धीरे मिटने लगते हैं। इसका प्रयोग आप रोजाना कर सकते हैं।

७) गुलाब का पेस्ट-

६-७ गुलाब के फूल ले और उनको अच्छे से पीसकर उनका पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को प्रभावित हिस्से पर लगा ले। लगभग २० मिनट बाद पानी से साफ धो ले। गुलाब के पेस्ट का इस्तेमाल करने से आपकी त्वचा को ठंडक मिलती है, त्वचा में हो रही खुजली तथा जलन कम होने में मदद मिलती है और फंगल इंफेक्शन के निशानों को मिटाने में भी यह काफी प्रभावी होता है।

दोस्तों, फंगल इंफेक्शन को हल्के में नहीं लेना चाहिए। जैसे ही इसके लक्षण दिखने शुरू हो जाते हैं, वैसे ही इसका तुरंत इलाज करवाएं। फंगल इंफेक्शन ना की त्वचा को बल्कि, उतको और हड्डियों तक नुकसान पहुंचा सकता है।

उम्मीद है, आपको आज का त्वचा फंगल इंफेक्शन निशान कैसे हटाएं,यह ब्लॉग अच्छा लगा हो और काफी इंफॉर्मेशन दे गया हो। धन्यवाद।

अधिक पढ़ें : चेहरे पर नीम का तेल लगाने के फायदे 

Leave a Comment

error: Content is protected !!