चोट लगने पर सूजन का इलाज

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप?, आज का हमारा विषय है, चोट लगने पर सूजन का इलाज सड़क पर चलते हुए हमें मोच आ जाती है। कई बार हमारी खुद की या दूसरों की लापरवाही से हमारा ऐक्सिडेंट हो जाता है। कभी कभी गंभीर चोट लग जाती है। कई बार सिर्फ खरोच लगती है, चोट आती है और सूजन हो जाती है। मांसपेशियों में दर्द होने लगता है और सूजन आ जाती हैं। हर तरह की सावधानी बरतने के बाद भी चोट लगना आम बात है। सूजन शरीर पर लगनेवाली चोट की प्रतिक्रिया होती है। चोट गंभीर होने से पहले आप कुछ उपचार अपना सकते हैं। कुछ घरेलू इलाज है, जो काफी असरदार होते हैं। तो आइए दोस्तों, आज हम जानेंगे चोट लगने पर सूजन का घरेलू इलाज कैसे करें।

चोट लगने पर सूजन का इलाज

चोट लगने पर अगर वह गंभीर ना हो, तो आप कुछ घरेलू नुस्खे आजमा सकते हैं।

१) हल्दी-

हल्दी को “हीलिंग एजेंट” के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। हल्दी में एंटी ऑक्सीडेंट और करक्यूमिन मौजूद होते हैं। हल्दी का लेप लगाने से सूजन से राहत मिलती है। २ चम्मच हल्दी का पाउडर और १ चम्मच नारियल का तेल मिलाकर अच्छे से पेस्ट तैयार कर लें। इस पेस्ट को प्रभावित सूजन की जगह पर लगा ले। सूखने के बाद गर्म पानी से धो लें। इसका प्रयोग दिन में ३-४ बार करें। इससे सूजन काम होने में मदद मिलेगी।

इसी के साथ, आप हल्दीवाला दूध का सेवन करें। यह दूध अंदरूनी चोट को ठीक कर देता है। हल्दी में एंटी इन्फ्लेमेटरी तत्व पाए जाते हैं। दूध पीने से कमजोरी भी दूर होगी और दर्द से भी राहत मिलती है।

२) तेल मालिश-

चोट लगने से मांसपेशियों को अंदरूनी चोट आती है और इससे चोट वाली जगह पर दर्द तथा सूजन हो जाती है। इसका इलाज करने के लिए आप गर्म तेल की मालिश कर सकते हैं। इससे मांसपेशियों को आराम मिलता है और सूजन कम होने में मदद मिलेगी। हल्के हाथों से की गई मालिश रक्त संचार सुचारू रूप से करने में सक्षम होती हैं।

तेल की मालिश करने के लिए आप जैतून का तेल या सरसों का तेल गैस पर गर्म कर लें। प्रभावित हिस्से पर हल्के हाथों से ५-१० मिनट तक मालिश करें। ऐसा आप दिन में कई बार कर सकते हैं। याद रखिए कि अगर मालिश करने से प्रभावित जगह पर दर्द हो, तो मालिश ना करें।

३) प्रभावित हिस्से को ऊंचा उठाए-

सूजन को कम करने के लिए आप प्रभावित हिस्से को थोड़ा ऊंचाई पर रख सकते हैं। अगर आपके हाथ में चोट लगी हो, तो हाथ के नीचे तकिया रखे और उसपर हाथ आराम से रखें। अगर आपके पैर में सूजन आई हो, तो पैरों के नीचे तकिया रख दें और आराम से पैर उस पर रखें। ऐसा करने से रक्त संचार ठीक तरीके से होता है। चोट के कारण शरीर के किसी भी हिस्से में सूजन आने के पीछे कमजोर, धीमा रक्त प्रवाह प्रमुख कारण होता है। ऐसी स्थिति में प्रभावित हिस्से को थोड़ा ऊंचाई पर रखने से ब्लड फ्लो बढ़ता है।

४) सोडियम-

अगर आपको चोट लगने से सूजन आई हो, ऐसे में आप अपने आहार में सोडियम का सेवन कर करें। सोडियम का अधिक सेवन सूजन को बढ़ावा देता है। इसी के साथ, ऐसे खाद्य पदार्थों से बचें, जिनमें सोडियम की मात्रा ज्यादा हो।

५) आराम-

शरीर के जिस हिस्से में सूजन आई हो, ऐसे हिस्से को अधिक आराम देने की कोशिश करें। अगर आपके पैर में मोच आई हो, तो पैर पर ज्यादा दबाव या वजन ना डाले। अगर आपके हाथ में सूजन आई हो, तो हाथ से काम ना करें।

६) अदरक-

अदरक में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। अदरक का सेवन सूजन कम होने में लाभकारी होता है। अदरक का सेवन करने से रक्त संचार भी सुचारू रूप से होता है, जिससे सूजन की वजह से हो रहा दर्द कम होने में मदद मिलती है। अदरक का एक टुकड़ा दो कप पानी में उबालकर पानी को छान लें। उसमें स्वाद के अनुसार शहद मिलाकर पी लें। इसको पीने से सूजन कम हो जाती है और दर्द से भी राहत मिलती है।

७) सेंधा नमक-

गर्म पानी से भरे टब में २-३ चम्मच सेंधा नमक मिला लें। प्रभावित हिस्से को २० मिनट तक टब में डुबोकर रखे। ऐसा करने से सूजन तो कम होती ही है, किन्तु मांसपेशियों में तनाव कम होकर आराम देता है। सेंधा नमक बड़ा ही गुणकारी होता है। इसी के साथ, रक्त संचार ठीक करने के लिए भी सेंधा नमक उपयुक्त होता है।

८) एक्सरसाइज-

व्यायाम, कसरत करने से हमारे शरीर की इम्युनिटी बढ़ती है। हमारी हड्डियां, मांसपेशियां मजबूत होती हैं। शरीर के किसी हिस्से में सूजन रहने से हम ज्यादातर आराम करते हैं, लेकिन ज्यादा आराम करने से ब्लड फ्लो प्रभावित होता है और जकड़न महसूस होती हैं। आप धीरे धीरे से, थोड़ी थोड़ी देर में वॉक करें। कम दबाव वाला व्यायाम करे, उससे आपकी मांसपेशियां मजबूत होंगी। इसी के साथ, नियमित जीवन पद्धति में कसरत को अवश्य शामिल करना चाहिए।

दोस्तो, आज के लिए बस इतना ही। उम्मीद है, आपको आज का यह, चोट लगने पर सूजन का इलाज ब्लॉग अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

अधिक पढ़ें : गले में कुछ अटका सा लगे तो क्या करें ?

Leave a Comment

error: Content is protected !!