आलू के फायदे और नुकसान

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? आज का हमारा विषय है आलू के फायदे और नुकसान,समोसा, चाट, वडा पाव, आलू चाट इन सभी व्यंजनों का नाम सुनकर मुंह में पानी आ गया ना! ऐसा कोई नहीं होगा, जिसे यह व्यंजन पसंद ना हो। इन सभी अच्छे-अच्छे व्यंजनों को बनाने के लिए आलू का इस्तेमाल किया जाता है। भारत देश में ऐसी कोई सब्जी नहीं है, जिसमें आलू ना डलता हो। हमारे देश में आलू सबसे आम, हर जगह पाए जाने वाली और महत्वपूर्ण सब्जी मानी जाती है। किसी भी सब्जी का स्वाद बढ़ाने के लिए आलू का इस्तेमाल किया जाता है। आलू ना सिर्फ खाने के व्यंजनों में इस्तेमाल किया जाता है; बल्कि इसमें मौजूद औषधीय तत्व के कारण शरीर को इससे कई लाभ मिलते हैं। 

आलू पोषक तत्व से भरपूर होता है। इसमें स्टार्च अधिक मात्रा में पाया जाता है। मैग्नीशियम, पोटेशियम, फास्फोरस, आयरन, ज़िंक, विटामिन ए, विटामिन सी, कार्बोहाइड्रेट्स और प्रोटीन जैसे पोषक तत्व आलू में पाए जाते हैं। इसीलिए, आलू को औषधीय गुणों से भरपूर सब्जी मानी जाती है। आलू का सेवन करने से शरीर को कई स्वास्थ्यवर्धक लाभ मिलते हैं। कोलेस्ट्रोल का स्तर कम होता है, डायबिटीज को नियंत्रित किया जा सकता है, हृदय स्वास्थ्य, पाचन तंत्र में सुधार जैसे लाभ मिलते हैं और रक्तचाप, आंखो की समस्या, अनिद्रा जैसी बीमारियों के लिए आलू काफी फायदेमंद साबित होता है। तो दोस्तों, आज जानेंगे आलू के फायदे और नुकसान के बारे में।

आलू के फायदे

जैसा कि, हमने देखा आलू में कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसीलिए, आलू का उचित मात्रा में सेवन करने से हमारे शरीर को कई सारे फायदे देखने को मिलते हैं।

१) पाचन शक्ति-

कई छोटे बच्चे और कुछ लोग हैवी फूड को पचाने में असमर्थ होते हैं; लेकिन उन्हें ऊर्जा की आवश्यकता होती है। ऐसे में, आलू इनकी सहायता कर सकता है। आलू में कार्बोहाइड्रेट होते हैं; जो पाचन क्रिया को आसान बनाते हैं। उबले हुए आलू की तुलना में, कच्चे और ठंडे आलू में फाइबर की अधिक मात्रा पाई जाती हैं। जिसके कारण पाचन क्रिया को गति मिलती है; इस तरह से कब्ज से भी राहत मिलती है। लेकिन, ध्यान रखें, अधिक मात्रा में आलू का सेवन करने से एसिडिटी की समस्या हो सकती हैं।

२) वजन बढ़ाना-

कई दुबले पतले लोग ऐसे होते हैं; जो कुछ भी खा ले लेकिन उनका वजन नहीं बढ़ता है। ऐसे में, आलू उनके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। आलू में मुख्य रूप से कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं और प्रोटीन का से कम मात्रा में होते हैं। आलू में मौजूद विटामिन सी और विटामिन बी कार्बोहाइड्रेट्स को अवशोषित करने में मदद करते हैं। इसी कारण, आलू का सेवन करने से आप वजन बढ़ा सकते हैं।

३) हृदय स्वास्थ्य-

शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर जैसे जैसे बढ़ता है, वैसे वैसे हृदय स्वास्थ्य बिगड़ता जाता है। इसीलिए, हृदय का स्वास्थ्य बनाए रखने के लिए आप आलू का सेवन कर सकते हैं। आलू में मौजूद विटामिन बी और विटामिन सी  हृदय को स्वस्थ बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। आलू कोलेस्ट्रोल फ्री होता है, जो हृदय के लिए भी अच्छा होता है।

४) मस्तिष्क-

मस्तिष्क के सभी कार्यों के निर्वहन लिए कई घटको की आवश्यकता होती हैं। जैसे; ऑक्सीजन की आपूर्ति, ग्लूकोस का उचित स्तर, अमीनो एसिड, ओमेगा थ्री फैटी एसिड तथा विटामिन बी कॉन्प्लेक्स जैसे तत्व मस्तिष्क के सभी कार्यों को उचित रूप से करने के लिए बहुत ही आवश्यक होते हैं। आलू इन सभी तत्वों से पूर्ण होता है। आलू में मौजूद विटामिन, मिनरल्स, कार्बोहाइड्रेट मस्तिष्क के कार्य प्रणाली को सकारात्मक रूप से प्रभावित करते हैं।

५) गठिया-

आलू में पोटेशियम और मैग्नीशियम पाए जाते हैं, जो हड्डियों की मजबूती के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। आलू का सेवन करने से महिलाएं तथा पुरुषों में हड्डियों की समस्या से राहत मिल जाती है। आलू में मौजूद कैल्शियम और मैग्नीशियम अर्थराइटिस यानी गठिया जैसे बीमारी के लिए भी सहायक होते हैं। हालांकि, अधिक स्टार्च और कार्बोहाइड्रेट होने के कारण कई लोगों का आलू खाने के बाद वजन बढ़ता है। ऐसे में, आप उबले हुए आलू के पानी का गठिया के दर्द तथा सूजन के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। इस तरह से आप आलू का सेवन किए बिना भी इसका लाभ उठा सकते हैं।

६) त्वचा-

आलू के पल्प को शहद के साथ मिलाकर त्वचा पर लगाने से काफी फायदे देखने को मिलते हैं। स्किन संबंधित समस्याएं जैसे; एजिंग के लक्षण, काले दाग धब्बे, आंखों के काले घेरे, मुहासे आदि समस्याओं के लिए आलू एक बेहतर उपाय साबित होता है। इसी के साथ, जले हुए हिस्से पर आलू लगाने से काफी फायदा देखने को मिलता है। आलू को चेहरे पर लगाने से चेहरे की ढीली त्वचा में कसाव लाकर उसे टाइट किया जा सकता है। आलू को चेहरे पर लगाने से चेहरे की त्वचा कोमल तथा मुलायम बनती है। आलू में विटामिन सी, विटामिन बी कॉन्प्लेक्स, पोटेशियम, मैग्नीशियम, जिंक जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं; जो त्वचा के पोषण के लिए बहुत ही उपयुक्त होते हैं।

आलू के नुकसान

अधिक मात्रा में आलू का सेवन करने से नुकसान भी उठाने पड़ते हैं।

१) जो लोग मोटापे से परेशान हैं और वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं, मधुमेह से ग्रस्त रोगियों को आलू का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि, आलू में ग्लाइसेमिक इंडेक्स ज्यादा होता है। ऐसे में, आलू का अधिक मात्रा सेवन करने से भूख कम लगना, ब्लड शुगर लेवल बढ़ना आदि समस्याएं देखने को मिलती हैं।

२) ग्रीन आलू और आलू के पत्ते में आर्सेनिक, सोलनिन जैसे रसायन अधिक मात्रा में होते हैं। इसीलिए, ग्रीन आलू और आलू के पत्तों का सेवन जहरीला साबित हो सकता है।

३) अधिक मात्रा में आलू के व्यंजन खाने से गैस की समस्या हो सकती हैं।

४) कच्चे आलू का सेवन करने से गर्भवती महिलाओं को बचना चाहिए। इसके लिए अपने डॉक्टर से उचित सलाह जरूर लेनी चाहिए।

५) आलू में कार्बोहाइड्रेट अधिक मात्रा में होते हैं और कार्बोहाइड्रेट कैलरी को बढ़ा सकते हैं। ऐसे में, आलू का अधिक मात्रा में सेवन करने से आप मोटापे के शिकार हो सकते हैं।

६) आलू में पोटेशियम पाया जाता है और अधिक पोटेशियम का सेवन करने से शरीर में पोटेशियम की मात्रा बढ़ कर कई सारी परेशानियां देखने को मिल सकती हैं। इसमें; सांस लेने में तकलीफ होना, छाती में दर्द होना, उल्टी जैसी तकलीफें शामिल होती हैं।

७) आलू अगर अंकुरित हो गया हो, तो उसका सेवन नहीं करना चाहिए।

दोस्तों, आज के लिए बस इतना ही। उम्मीद है, आपको आज का आलू के फायदे और नुकसान यह ब्लॉग अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

अधिक पढ़ें : चेहरे पर गुलाब जल लगाने के फायदे

Leave a Comment

error: Content is protected !!