जानिए वास्तु के अनुसार कैसे हो घर के पर्दे :तो चलिए आज हम जानते है की कैसे हो वास्तुशास्त्रा के अनुसार आपके घर के पर्दे और कैसा हो उस पर्दो का कलर|
वास्तु के अनुसार घर के पर्दों के बारे में घर की सजावट पर इंटीरियर में दीवारों के रंग और प्रथमता पर्दो में कहां अलग अलग रंग के पर्दे घर को खूबसूरत बनाती है| घर में पॉजिटिव एनर्जी बनाए रखने मे मदद करते हैं उसी तरह घर के हर कमरे का उद्देश्य अलग अलग होता है|

जानिए वास्तु के अनुसार कैसे हो घर के पर्दे
जानिए वास्तु के अनुसार कैसे हो घर के पर्दे

इसीलिए घर के सभी कमरों में एक तरह के पर्दे नही लगाने चाहिए |
वास्तु के अनुसार पर्दो के लिए सही दिशा और किस कमरे के लिए है कौनसा रंग शुभ आइए जानते हैं |

पूर्वी और उत्तर दिशा में स्थित खिड़किया हमेश प्रदूषण करती है ऐसी खिड़की सूर्योदय के पश्चात इन खिड़कियों को खुला रखें और पड़दा नहीं लगाए| और हमे पश्चिम और दक्षिण दिशा के खिड़कियो के ऊपर मोटा परदा लगाए चाहिए | पूजा घर में जालीदार पर्दे ना लगाए साधारण पर्दो का उपयोग करें|

अगर आप आपके वास्तु के लिए ये पर्दे और कलर का इस्तेमाल करते है तो आपको हर जगह सफलता प्राप्त होगी और आपको कामयाबी मिलेगी तो चलिए जानते है जानिए वास्तु के अनुसार कैसे हो घर के पर्दे और उस पर्दो के रंग|

जानिए वास्तु के अनुसार कैसे हो घर के पर्दे और कौनसे कमरे में लगाए किस तरह का रंग

अतिथि कक्ष :अतिथि कक्ष के लिए हल्का हरा नीला और पीला रंग का इस्तेमाल करना सही माना जाता है|

शयनकक्ष :शयनकक्ष के लिए हल्का गुलाबी गहरा नीला वास्तु के हिसाब से सबसे सही रंग माना गया है|

भोजन कक्ष :वास्तुशास्त्रा के अनुसार भोजन कक्ष में हल्का हरा हल्का नीला पीला और केसरिया सबसे सही रंग माना गया है|

रसोईघर :रसोईघर में पीला नारंगी और चॉकलेटी रंग का इस्तेमाल करना वास्तु के हिसाब से सबसे कारगर मान गया है|

पूजाघर :वास्तुशास्त्रा के अनुसार पूजा घर को सबसे पवित्र स्थान माना गया है इसी लिए हमे पूजा घर में हल्का पीला और सफेद का इस्तेमाल करना चाहिए|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here